#योगदिवस : पीएम बोले- योग पर उत्तम कार्य के लिए अवॉर्ड दिया जाएगा...

चंडीगढ़ (21 जून): पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अगले साल होने वाले योग दिवस के कार्यक्रम में दो अवॉर्ड देने की घोषणा की। इनमें एक राष्ट्र स्तर पर उत्तम कार्य के लिए और दूसरा विश्वस्तर पर योग पर काम के लिए दिया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी नियम बनाएगी और सराहनीय कार्य करने वाले व्यक्ति, संस्था और अभियान को पुरस्कृत किया जाएगा। असल में योग वेलनेस के साथ-साथ फिटनेस की भी गारंटी देता है।

इससे पहले योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि योग परलोक नहीं इस लोक में मुक्ति का मार्ग है। यह जीरो बैलेंस मेडिकल इंश्योरेंस हैं। योग मन की स्थिरता को सिखाता है। इसके लिए किसी भी तरह के बजट की जरूरत नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि योग आस्तिक और नास्तिक के लिए है। इससे आर्थिकरूप से निर्धन स्वस्थ्य रह सकते हैं। 

पीएम ने कहा कि योग इस लोक में शांति का मार्ग है। योग सामाजिक और आध्यात्मिक चेतना का प्रेरणा देता है। योग को बिना किसी विवाद में डाले सभी को इससे जुड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि योग आज बहुत बड़ा आर्थिक कारोबार का जरिया बनता जा रहा है। देश और दुनियाभर में योग के ट्रेनर्स की डिमांड बढ़ गई है। 

उन्होंने आह्वान किया कि अगले वर्ष 2017 में तक योग को एक अभियान पर फोकस करें और डायबिटीज के खिलाफ अभियान चलाएं। जो लोग बीमारी से ग्रस्त हैं, उन्हें योग से होने वाले फायदों के बारे में बताएं और जो नहीं हैं उन्हें इससे बचने के तरीके बताएं। हम सामान्य व्यक्ति को योग से डायबिटीज़ कंट्रोल पर ध्यान दें।

पहले योग दिवस के मौके पर जिस तरह दिल्ली में राजपथ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग समारोह का नेतृत्व किया था, उसी तरह इस बार मोदी ने चंडीगढ़ में योग समारोह का नेतृत्व किया। मुख्य आयोजन में उनके साथ हजारों लोगों ने योगाभ्यास किया। इस मौके पर पंजाब के गवर्नर, सीएम प्रकाश सिंह बादल, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर समेत बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया।