सिविल सर्वेंट्स से बोले पीएम मोदी, बदलना होगा सरकारी अधिकारी बनने का नजरिया

नई दिल्ली(21 अप्रैल): पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में सिविल सर्विसेज डे अवॉर्ड सेरेमनी को संबोधित किया। मोदी ने आईएएस अधिकारियों को नेताओं से ज्यादा ताकतवर बताते हुए कहा कि वे व्यवस्था में रहकर देश के लिए ज्यादा लंबे समय तक काम कर सकते हैं। मोदी ने कहा कि कुछ का एकमात्र मकसद सरकारी अधिकारी बनना होता है, ऐसे लोगों को अपना नजरिया बदलना होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि जब विद्यार्थी परीक्षा देकर घर लौटता है, एक तरफ रिजल्ट का इंतजार करता है लेकिन दूसरी तरफ वह सोचता है कि अगले साल शुरू से पढ़ूंगा। लेकिन जिंदगी वे जी सकते हैं जो रुकावट को अवसर समझते हों। उन्होंने कहा कि जो  लोग थकावट नहीं महसूस करते वे आगे बढ़ते हैं।

मोदी ने कहा कि हम लोगों के जीवन में जैसे-जैसे दायित्व बढ़ता है वैसे ही हमारे अंदर कुछ नया करने की ऊर्जा भी बढ़नी चाहिए। मोदी ने कहा कि अगर हम कुछ नया करने की कोशिश ही नहीं करेंगे तो देश में बदलाव नहीं लाया जा सकता है।

मोदी ने कहा कि कि सिर्फ प्रशासक या नियंत्रक बन जाना ही काफी नहीं है। सभी लोगों को बदलाव के लिए काम करना होगा. मोदी बोले कि सबको को एक ऐसा माहौल बनाना होगा जहां सभी अपना योगदान दे सके। 125 करोड़ लोगों की ऊर्जा देश को ऊंचाईयों पर ले जाएगी।