पीएम मोदी करेंगे ये 5 बड़े ऐलान! नोटबंदी के 'दर्द' पर लगाएंगे मरहम

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (31 दिसंबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए साल की पूर्व संध्या पर आज देश को संबोधित करेंगे। नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने के मौके पर पीएम देश की जनता को धन्यवाद देंगे, जिन्होंने दिक्कतों के बावजूद संयम से काम लिया। पीएम नोटबंदी से हुए फायदों और 50 दिनों में सरकार ने कालधेन को पकड़ने के लिए क्या-क्या कदम उठाए उसका ब्यौरा भी दे सकते हैं। इसके अलावा कई कल्‍याणकारी योजनाओं की भी घोषणा कर सकते हैं। नोटबंदी से हुई आम जनता को परेशानी के मरहम के तौर पर कुछ बड़े ऐलान कर सकते हैं। इनमें किसानों के लिए कर्ज माफी, उज्ज्वला योजना के तहत अगले 2 साल तक फ्री गैस और एक करोड़ स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप की घोषणा कर सकते हैं। जनधन खातों को लेकर भी महत्वपूर्ण ऐलान संभव है। आइए जानते हैं '50 दिन के दर्द' पर नए साल में कैसे मरहम लगाएगी मोदी सरकार-

1) किसानों और मजदूरों के लिए हो सकते हैं बड़े ऐलान...

    * मोदी सरकार देश के लाखों गरीबों को डेटा समेत स्मार्ट फोन फ्री में दे सकती है, पहले चरण में 70 लाख फोन दे सकती है।

    * किसानों की कर्ज माफी को लेकर पीएम बड़ा ऐलान कर सकते हैं, कर्ज माफी की मांग कई राज्यों से पहले ही आ रही है।

    * उज्ज्वला योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन के साथ अगले 2 साल तक फ्री गैस देने की घोषणा कर कर सकती है।

    * नोटबंदी के रिटर्न गिफ्ट के रूप में एक करोड़ स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप की पेशकश की जा सकती है।

    * सस्ते घर बनाने के लिए मुफ्त रकम के साथ ब्याज रहित लोन देने की घोषणा की जा सकती है।

    * प्रधानमंत्री जनधन बैंक खातों में नोट बंदी के बाद जमा हुई राशि पर भी अहम निर्णय ले सकते हैं।

2) इनकम टैक्स छूट की सीमा को बढ़ाया जा सकता है...

    * वित्त वर्ष 2017-18 के आम बजट में केंद्र सरकार नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ी राहत का ऐलान कर सकती है।

    * सुत्रों के मुताबिक सरकार मौजूदा टैक्स छूट की सीमा को बढ़ाकर 4 लाख रुपए करने पर विचार कर रही है।

    * अगर सरकार टैक्स स्लैब में बदलाव करती है तो आगामी वित्त वर्ष से टैक्स देने से छूट मिल जाएगी।

    * साथ ही सरकार आयकर की धारा 80सी के तहत छूट के लिए निवेश की सीमा 1.5 लाख रुपये से बढ़ा सकती है।

3) नए साल में बैंकों के लोन सस्ते हो सकते हैं...

    * सरकार ने बैंकों से कहा है कि उनके डिपॉजिट रेट्स में नोटबंदी के चलते काफी कमी आई है।

    * इसलिए बैंकों को लेंडिंग रेट्स में कटौती करनी चाहिए।

    * सुत्रों का कहना है कि लेंडिंग के साथ डिपॉजिट रेट्स में भी बड़ी कटौती हो सकती है।

    * बड़े बैंक अभी एक साल के डिपॉजिट पर 7 फीसदी का ब्याज दे रहे हैं।

4) पैसे निकालने की सीमा में ढील...

    * आम आदमी को राहत प्रदान करते हुए RBI ने बड़ी घोषणा की है।

    * 1 जनवरी से एटीएम से रोजाना 2,500 रुपये की जगह 4,500 रुपए तक निकाले जा सकेंगे।

    * हालांकि, पैसे निकालने की साप्ताहिक सीमा में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है।

    * सप्ताह में अधिकतम केवल 24,000 रुपये ही निकाले जा सकते हैं।

    * साथ ही RBI ने मोबाइल वॉलिट में 20,000 रखने की समयसीमा को बढ़ा दिया है।

    * व्यापारी प्री-पेड पेमेंट के जरिये अपने खाते में 50,000 रुपये तक जमा कर सकते हैं।

5) छोटे व्यापारियों को बडी राहत...

    * सरकार ने डिजिटल इकॉनमी को बढावा देने के लिए छोटे व्यापारियों को बडी राहत दी है।

    * 2 करोड तक टर्नओवर वाले कारोबारी डिजिटल ट्रांजैक्शन करेंगे तो उनको टैक्स में छूट मिलेगी।

    * ऐसे व्यापारियों की अनुमानित आय 8 फीसदी के बजाय 6 फीसदी ही मानी जाएगी।

    * और ऐसे व्यापारियों को 8 फीसदी के बजाय 6 फीसदी पर ही टैक्स देना होगा।