चीन फैला रहा है झूठ, मोदी-जिनपिंग मुलाकात का नहीं था कोई कार्यक्रम

नई दिल्ली (6 जुलाई): एक बार फिर भारत पर दबाव बनाने की कोशिश में लगे चीन की पोल खुल गई है। सूत्रों से मिली खबर के अनुसार, जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में G-20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात का कोई कार्यक्रम नहीं था।


दरअसल चीन ने गुरुवार को कहा कि हैम्बर्ग में मोदी-जिनपिंग के बीच द्विपक्षीय बातचीत के लिए 'माहौल सही नहीं है।' हालांकि एक अंग्रेजी चैनल ने दावा किया है कि दोनों नेताओं के मुलाकात का कोई कार्यक्रम तय ही नहीं था। सूत्र ने बताया कि किसी भी पक्ष ने द्विपक्षीय बैठक के लिए अनुरोध नहीं किया था, इसलिए बातचीत रद्द होने का सवाल ही नहीं है।


जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में शुक्रवार से जी-20 शिखर सम्मेलन की शुरूआत हो रही है। इसमें भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी हिस्सा लेने वाले हैं। ऐसी चर्चाएं थीं कि सिक्किम सेक्टर में पिछले करीब एक महीने से भारत और चीन के सेनाओं के बीच जारी गतिरोध के हल के लिए दोनों देशों के शीर्ष नेता हैम्बर्ग में मुलाकात कर सकते हैं। तनाव का हवाला देकर मोदी-जिनपिंग मुलाकात की संभावना को खारिज करने संबंधी चीन के बयान को भारत पर दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है।