तीन देशों के दौरे पर PM मोदी, अजेंडे में टॉप पर ऊर्जा, सुरक्षा और व्यापर

नई दिल्ली (10 फरवरी): प्रधानमंत्री मोदी तीन देश जॉर्डन, फिलिस्तीन और यूएई के दौरे पर हैं। अपने दौरे के पहले पड़ाव में प्रधानमंत्री सबसे पहले जॉर्डन पहुंचे। यहां प्रधानमंत्री मोदी का जोरदार स्वागत किया गया। जॉर्डन की राजधानी अम्मान से जब मोदी रमल्ला पहुंचेंगे तो वह फिलिस्तीन जाने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री होंगे। 

पीएम मोदी के फिलिस्तीन पहुंचे से पहले वहां के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास ने एक बयान जारी कर प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे को ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण बताया है। फिलिस्तीन के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास के साथ नरेंद्र मोदी की ये चौथी मुलाकात होगी। इससे पहले 2015 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के समय, उसी साल बाद में पैरिस में जलवायु सम्मेलन के समय और पिछले साल अब्बास के भारत दौरे के दौरान दोनों नेताओं की मुलाकात हुई थी। भारत ने फिलिस्तीन को ढांचागत विकास, क्षमता निर्माण और राष्ट्र निर्माण के प्रयासों में भरपूर मदद की है। 

फिलिस्तीन के बाद प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में अबू धाबी जाएंगे। अगस्त 2015 के बाद 10 फरवरी, 2018 को मोदी अबू आधी की अपनी दूसरी यात्रा पर होंगे। प्रधानमंत्री मोदी अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई की सेना के डेप्युटी कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नह्यन के साथ बातचीत करेंगे, जिसके बाद कई करार पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी यूएई के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री व दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशीद अल मकतूम से मुलाकात करेंगे। साथ ही, प्रधानमंत्री से खाड़ी देशों की प्रमुख कंपनियों के कुछ सीईओ भी यहां मुलाकात करेंगे। 2015 में मोदी के दौरे के समय भारत और यूएई के बीच व्यापक व रणनीतिक साझेदारी का रिश्ता कायम हुआ।