बिहार: पीएम मोदी के दौरे को लेकर मोतिहारी में सुरक्षा कड़ी, भारत-नेपाल सीमा सील

पटना(9 अप्रैल): पीएम मोदी मंगलवार को मोतिहारी पहुंच रहे हैं। 10 अप्रैल को होने वाले पीएम मोदी के इस दौरे को लेकर सुरक्षा कड़ी कर दी गई। पीएम मोदी के कार्यक्रम को देखते हुए सोमवार से अगले 36 घंटे के लिए भारत नेपाल की सीमा को सील कर दिया गया हैं। इसके अलावा पीएम के दौरे को लेकर मोतिहारी में 3 अतिरिक्त एसपी, तीन डीएसपी को तैनात कर दिया गया है।

बिहार के मुख्य सचिव और डीजीपी ने मोतिहारी जाकर कार्यक्रमों की समीक्षा भी की है। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर कई तरह के आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। पीएम के दौरे को लेकर रूट चार्ट की भी समीक्षा की जा चुकी है। मुख्य सचिव और डीजीपी ने सभा स्थल का भी निरीक्षण किया था तथा सभी आवश्यक बिंदुओं पर पर्याप्त दिशा निर्देश भी जिला प्रशासन को दिया गया था।

पीएम मोदी सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह कार्यक्रम में शामिल होंगे और महात्मा गांधी की कर्मभूमि से स्वच्छता के मिशन को मजबूत करने का आह्वान करेंगे। पीएम मोदी मोतिहारी के गांधी मैदान में आयोजित सभा स्थल से देशभर के चार लाख स्वच्छाग्रहियों को संबोधित करेंगे। हालांकि मोतिहारी में बीस हजार स्वच्छाग्रहियों के ठहरने की व्यवस्था की गई है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग तथा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से प्रधानमंत्री देशभर के स्वच्छाग्रहियों को संबोधित करेंगे।

देश भर में खुले में शौच से मुक्ति के लिए स्वच्छाग्रही लगातार काम कर रहे हैं और गांव-गांव में संपर्क कर लोगों से खुले में शौच के कलंक को मिटाने की अपील भी कर रहे हैं। इन स्वच्छाग्रहियों के आह्वान का कई जिलों में खासा असर भी देखने को मिल रहा है। 10 अप्रैल को प्रधानमंत्री इन स्वच्छाग्राहियों को संबोधित करेंगे। फिलहाल बिहार में 20,000 स्वच्छाग्रही कई जिलों में घूमकर जागरूकता अभियान चला रहे हैं।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सत्याग्रह आंदोलन के लिए 10 अप्रैल 1917 को ही बिहार आकर आंदोलन की शुरुआत की थी और उस तारीख के सौ साल होने पर 2017 में चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह की शुरुआत हुई थी। एक साल तक चले इस समारोह का समापन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया जाएगा। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के समापन समारोह को ही सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह नाम दिया गया है।