पीएम मोदी ने कहा- हमसे हजार साल लड़ने वाले काल के भीतर खो गए, युद्ध की चुनौती स्वीकार

नई दिल्ली (24 सितंबर): उरी में सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार देश की जनता के सामने आए। इस मौके पर उन्होंने पाकिस्तान पर जमकर हमले किए और वहां के ह‍ुक्मरानों को सलाह भी दी। प्रधानमंत्री मोदी ने यहां पर पाकिस्तान द्वारा दी जाने वाली युद्ध की गीदड़ भभकी को भी स्वीकार किया।

केरल के कोझिकोड में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर पाकिस्तान युद्ध चाहता है तो दिल्ली में एक ऐसी मजबूत सरकार बैठी है जो उसकी यह चुनौती स्वीकार करती है।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में स्वीकार की पाकिस्तान की युद्ध की चुनौती...

- पाक की आवाम से मैं कहना चाहता हूं कि आपके हुक्मरान आपको गुमराह करने के लिए हिंदुस्तान से हजार साल लड़ने की बात करते हैं। आज दिल्ली की सरकार इस चुनौती को स्वीकार करना चाहती है। - पड़ोस के देश के नेता, उनके हुक्मरान कहा करते थे हजार साल लड़ेंगे, काल के भीतर कहां खो गए, नजर नहीं आते हैं। - पाकिस्तान के हुक्मरान आतंकवादियों के आकाओं के लिखे हुए भाषण पढ़कर कश्मीर के गीत गा रहे है। - जम्मू-कश्मीर के उरी में पड़ोसी देश से भेजे गए आतंकवादियों से मुठभेड़ में 18 जवानों को शहीद होना पड़ा। आतंकवादी कान खोलकर सुन लें यह देश इस बात को कभी भूलने वाला नहीं है। - पाकिस्तान की आवाम अपने हुक्मरानों को पूछे कि पीओके तो आपके पास है, आप उसको तो संभाल नहीं पाते, कभी पूर्वी पाकिस्तान भी आपके पास था वो भी नहीं संभाल पाए, गिलगित-बाल्टिस्तान को नहीं संभाल पा रहे हैं, बलूचिस्तान को नहीं संभाल पा रहे हैं, कश्मीर को क्या संभालेंगे।