लोकसभा में बोले PM मोदी , हम कांग्रेस की नाकामी से सीख रहे हैं

नई दिल्ली(3 मार्च): संसद के बजट सत्र में गुरुवार को पीएम मोदी ने लोकसभा में भाषण दिया। पीएम ने सबसे पहले राष्ट्रपति के प्रति आभार जताया। पीएम ने सदन के सभी सदस्यों का धन्यवाद किया।

पीएम ने अपने भाषण में क्या कहा...

-  यह देश उस बात को कभी नहीं भुला सकता कि 27 सितंबर 2013 को मनमोहन सिंह की सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश को प्रेस सम्मेलन में फाड़ दिया गया है। बड़ों का ऐसा अपमान देश नहीं भूलेगा

- पर उपदेश कुशल बहुतेरे। मैं लगातार लोगों के उपदेश सुन रहा हूं। 14 साल में मैं इसके साथ जीना सीख चुका है

- मैं कैसे कह सकता हूं कि रेल मैंने शुरू किया है? आप कह सकते हैं, आप तो कुछ भी कह सकते हैं

- सरकार ने प्रयोग के तौर पर किसानों को 45 जिलों में फसल बीमा योजना के साथ सात अलग-अलग बीमाओं की पेशकश की है

- प्रधानमंत्री किसान फसल योजना एक अप्रैल से देश के सभी गांवों, जिलों में लागू होगा। इसे 45 जिलों में पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर शुरू किया गया था

- लोग आपसे पूछेंगे कि खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम से केरल, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्यों को अलग क्यों रखा गया

- जब आपके पास कहने के लिए कुछ नहीं होता है तो गुजरात का जिक्र होता है। यह आपके दिवालियेपन का प्रतीक है।'

- वाजपेयी जी के समय शुरू की गई प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का फायदा उन राज्यों को ज्यादा मिला जो गरीब थे।

- केंद्र का पैसा मनरेगा को भी गया और सड़क योजना को भी गया लेकिन परिसंपत्तियों का निर्माण सड़क योजना के जरिए हुआ

-यह सदन इस बात के लिए नहीं है कि लोग यह सोचें कि मेरी सफेदी उसकी सफेदी से कम क्यों

- सौ दिन का हमारा लक्ष्य हम कभी नहीं पूरा कर पाए। औसतन 30 दिन से 40 दिन तक गाड़ी अटक जाती है। हमने बिचौलियों को खत्म करने के लिए ऑडिट की दिशा में भरपूर प्रयास किया है। हमें विश्वास है कि 94 फीसदी श्रमिकों को बैंक और डाकघर के जरिए भुगतान शुरू कराया है

 राजनीति पर नहीं, राष्ट्रनीति पर सोचें

- राजीव गांधी सदन में बहस पर जोर देते थे

- हम कांग्रेस की नाकामी से सीख रहे हैं

- पहले नरेगा फिर मनरेगा दिया

- मनरेगा हमारी सफलता का स्मारक नहीं

- मनरेगा का इतिहास 50 साल पुराना है

कांग्रेस ने गरीबी की जड़ें जमवाई

- बांग्लादेश सीमा विवाद आपकी देन है

- आपने शौचालय नहीं बनाए तो हमने बनाए

- कुछ बातें आप ही की देन हैं 

- पीएम मोदी इंदिरा, राजीव गांधी के भाषण के अंश पढ़े

- कुछ लोग बात देर से समझते हैं

- मेक इन इंडिया का मजाक क्यों

- कुछ सांसद मनोरंजन भी कराते हैं

- विपक्ष में प्रतिभावान सांसद बोल नहीं पाते

- सदन नहीं चलने के पीछे हीन भावना

- अपना एजेंडा नहीं देश का एजेंडा सोचें

- 8 मार्च को महिला दिवस है, इसलिए इस दिन सदन में मैं चाहता हूं सिर्फ  महिलाए बोलें।

- सत्र में एक ऐसा दिन भी हो जो पहली बार सांसद बने हैं वे बोलें

- जीएसटी बिल भी आपका ही है

- हमें बड़ों की बात माननी चाहिए

- जीएसटी बिल पास करने से रोका जा रहा है

- सदन बाधित करके क्या हासिल करेंगे

- बिल रोकरकर किसी का भला नही

- जनहित के तमाम बिल अटके पड़े हैं

- कुछ बिल पास हुए पर कुछ आगे नहीं बढ़े

- पीएम मोदी ने राजीव गांधी का भाषण पढ़ा

- राषट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विचार रखने वाले सभी सदस्यों का आभार। बहस के दौरान सदन की गरिमा बनी रहनी चाहिए।