कलाम की पुण्यतिथि पर बोले पीएम मोदी- युवाओं में दिखते हैं 'मिसाइलमैन'

नई दिल्ली(27 जुलाई): देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की आज पुण्यतिथि है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तमीलनाडु पहुंचे हैं। पीएम मोदी ने रामेश्वरम में पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की स्मृति में बने एक मेमोरियल का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के स्टैचू का अनावरण किया।

- पीएम मोदी ने डॉ. कलाम को नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद पीएम मोदी रामेश्वरम में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के परिवार के लोगों से भी मुलाकात की। 

- साथ ही पीएम मोदी ने रामेश्वरम से अयोध्या के नई एक्सप्रेस ट्रेन की शुरुआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यह मेरे लिए बहुत ही गर्व की बात है कि मैं रामेश्वरम की धरती पर खड़ा हूं। मैं उस जमीन पर हूं, जो अध्यात्म का केंद्र है। यह वह धार्मिक जमीन है, जिसने देश को डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम जैसा बेटा दिया। 

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें उन सभी मजदूर भाइयों का खड़े होकर स्वागत करना चाहिए जिन्होंने एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल को बनाने में अपना अमुल्य योगदान दिया। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता को याद किया। 

- उन्होंने कहा कि इस मौके पर अम्मा की कमी खल रही है। अगर आज अम्मा यहां होती तो इसका आनंद कुछ और ही होता। वह एक ऐसी नेता है जिन्हे हर कोई याद रखेगा। वहीं प्रधानमंत्री ने मछुआरओं के बारे में बात करते हुए कहा कि हमारे मछुआरे छोटी नाव लेकर समुद्र में चले जाते हैं। उन्हें यह पता ही नहीं होता है कि वह भारत की सीमा में है या किसी और की। 

- साथ ही उन्होंने कहा कि डॉ. कलाम युवाओं के लिए प्रेरणा का श्रोत हैं। मैं देखता हूं आज का युवा नौकरी पैदा करना चाहता है।