स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45% की कमी आई- PM मोदी

नई दिल्ली (1 जुलाई): द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया यानी ICAI के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार के नोटबंदी के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि इससे कालेधन पर भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि भारतीयों द्वारा जमा राशियां अब तक के रिकॉर्ड में सबसे नीचे स्तर पर पहुंच गई है। NDA सरकार के आने के बाद स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45 फीसदी की कमी आई है, जबकि साल 2013 में विदेशों में जमा कालेधन में 42 फीसदी इजाफा हुआ था। यह कालेधन के खिलाफ कार्रवाई का नतीजा सामने है।


उन्होंने कहा कि देश को संवारने के लिए सरकार ने 3 सालों में कई कदम उठाए। विदेशों से समझौते किए गए। उन्होंने बताया कि विदेशों से समझौतों का क्या असर हुआ है। उन्होंने कहा कि स्विस बैंक के आंकड़े बता रहे हैं कि भारत सरकार के काम बेहद शानदार रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्विस बैंकों में भारतीय धन कुबेरों की दौलत आधी घट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि साल 2014 से स्विस बैकों में धन जमा करने के मामले में कमीं आई। उन्होंने कहा कि मुझे दुख है कि साल 2013 में 42 फीसदी ज्यादा रकम स्विस बैंकों में जमा हुई। पर साल 2016 में इसमें 45 फीसदी की कमी आई है।


PM मोदी की बड़ी बातें...

- नोटबंदी का फैसला कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बहुत बड़ा कदम था

- स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45% की कमी आई

- शेल कंपनियों की किसी न किसी CA ने मदद की होगी

- 37 हजार शेल कंपनियों की पहचान कर ली गई है

- 11 साल में सिर्फ 25 सीए पर कार्रवाई हुई है

- देश में हर साल करोड़ों गाड़ियां खरीदी जाती हैं, लेकिन टैक्स नहीं दिया जाता

- देश में महज 32 लाख लोग हैं जो अपनी इनकम 10 लाख रुपये से ज्यादा बताते हैं

- कालेधन की कार्रवाई में 1 लाख कंपनियों पर ताला लगाया गया

- जिन्होंने गरीबों को लूटा है उन्हें गरीबों को लौटाना ही होगा

- भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं, देश में 3 लाख कंपनियां शक के घेरे में

- राष्ट्र निर्माण की मुख्यधारा से जुड़े CA

- अगर CA चाह लें तो टैक्स चोरी कोई नहीं कर पाएगा

- लोगों को ईमानदारी से टैक्स जमा करने के लिए प्रेरित करना होगा

- आप मेरी भावना समझिए, देश अहम मोड़ पर खड़ा है

- देश के भरोसे को ना टूटने दें CA

- देश के सवा सौ करोड़ लोगों को आपके एक हस्ताक्षर पर भरोसा है

- देश में किसी के हस्ताक्षर की ताकत उतनी नहीं है जितनी एक CA के हस्ताक्षर की ताकत होती है

- GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है

 - चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को देश की संसद ने पवित्र अधिकार दिया है

- अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं CA

- देश के आर्थिक स्वास्थ्य के लिए GST जरूरी- PM मोदी