पीएम मोदी का कोरिया से पाक को कड़ा संदेश, अब बातचीत नहीं, एक्शन होगा

Photo: ANI 


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 फरवरी):
दो दिन के दौरे पर दक्षिण कोरिया पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर आतंकवाद पर पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाई। प्रधानमंत्री को आज यहां पर सीओल पीस प्राइज दिया जाएगा। पीएम मोदी ने कोरियाई राष्ट्रपति मून से मुलाकात के दौरान साफ कर दिया कि आतंकवाद पर बातचीत से आगे जाने का वक़्त आ गया है। उनके इस बयान से साफ है कि अब भारत किसी भी तरह से पाकिस्तान से कोई बात नहीं करेगी, बल्कि आने वाले समय में कुछ एक्शन देखने को मिलेगी।

पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देने और आतंकवाद के खिलाफ साथ देने के लिए राष्ट्रपति मून का शुक्रिया जताया। कहा कि भारत से दक्षिण कोरिया की दोस्ती बढ़ने में डिफेंस सेक्टर का अहम रोल है। पीएम ने आगे कहा, 'रक्षा क्षेत्र दक्षिण कोरिया के साथ हमारी बढ़ती साझेदारी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका एक उदाहरण भारतीय सेना में K-9 वज्र आर्टिलरी गन का शामिल होना है।'  बता दें कि K-9 थंडर कोरिया गणराज्य सशस्त्र सेनाओं के लिए सैमसंग टेकविन द्वारा विकसित एक दक्षिण कोरियाई स्व-चालित 155 मिमी का होवित्जर है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरियाई युद्ध में मारे गए सैनिकों सहित अन्य सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यात्रा के पहले दिन उन्होंने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन और संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की मून के साथ योनसेई विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया। मोदी, राष्ट्रपति मून जेइ इन के आमंत्रण पर दक्षिण कोरिया आए हैं। 2015 के बाद से प्रधानमंत्री मोदी की कोरिया गणराज्य की यह दूसरी यात्रा है और राष्ट्रपति मून जेइ इन के साथ यह उनकी दूसरी शिखर बैठक है।

प्रधानमंत्री यहां ‘सियोल पीस प्राइज’ भी ग्रहण करेंगे। इस पुरस्कार की घोषणा पिछले वर्ष अक्टूबर में सियोल पीस प्राइज फाउंडेशन ने की थी। पीएम मोदी ने सियोल में कहा, 'मैं पुलवामा हमले पर व्यक्त की गई संवेदना और आतंक के खिलाफ समर्थन के लिए राष्ट्रपति मून का आभार व्यक्त करता हूं। आज दोनों देशों के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं जो हमारे आतंकवाद निरोधी एजेंडे को आगे बढ़ाएगा।'