चीन से बढ़ेगी दोस्ती, इस साल तीन बार और मिल सकते हैं पीएम मोदी और शी जिनपिंग

नई दिल्ली ( 4 अप्रैल ): भारत और चीन के बीच रिश्तों पर पड़ी बर्फ पिघलती हुई दिखाई दे रही है। पिछले महीने वुहान में पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अनौपचारिक मुलाकात हुई थी। वुहान में अनौपचारिक शिखर बैठक के दौरान भारत और चीन के बीच हुई दोस्ती को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग इस साल तीन बार और मुलाकात कर सकते हैं।

भारत में चीन के राजदूत लुओ झाउहुई ने आज यह जानकारी दी। दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चीन के राजदूत ने कहा कि शी और मोदी के वुहान में अपनी उपयोगी और व्यापक बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए इस वर्ष और मुलाकात करने की उम्मीद हैं। उन्होंने कहा कि दोनों नेता चीन में जून में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन की बैठक, दक्षिण अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन और अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में होने वाले जी 20 शिखर सम्मेलन में मुलाकात कर सकते हैं।राजदूत ने कहा कि वुहान की मुलाकात काफी खास थी। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका था जब चीनी राष्ट्रपति ने किसी विदेशी नेता की राजधानी से बाहर आकर दो-दो आगवानी की हो। उन्होंने कहा यह दर्शाता है कि भारत के साथ रिश्तों को चीन कितना महत्व देता है।