'छूत-अछूत में बंटा समाज विकास नहीं कर सकता, हमें इससे ऊपर उठना होगा'

नई दिल्ली (15 अगस्त): पीएम मोदी ने स्वतंत्रा दिवस के मौके पर अपने भाषण में कहा कि छूत-अछूत में बंटा समाज विकास नहीं कर सकता। जाति की वजह से किसी का अपमान नहीं करना चाहिए। सभी को सामाजिक बुराइयों से ऊपर उठना होगा। आज जो सामाजिक तनाव देखते हैं, उसमें रामानुजाचार्य का संदेश महत्वपूर्ण है। हमारे सभी महापुरुषों से सामाजिक एकता की बात की।

उन्होंने कहा कि भारत एक युवा देश है। सशक्त हिंदुस्तान, सशक्त समाज के बिना नहीं बन सकता और सामाजिक न्याय के आधार पर ही सशक्त समाज का निर्माण होता है। सिर्फ आर्थिक विकास से ही देश विकसित नहीं होगा। युवाओं को अवसर मिले, युवाओं को रोजगार मिले, ये हमारे लिए समय की मांग है।