नीतीश ने फिर नोटबंदी का किया समर्थन, कहा- साहसिक फैसला

नई दिल्ली ( 25 नवंबर ): केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर विपक्ष के तमाम दलों की कड़ी आलोचना के बावजूद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका फिर जोरदार समर्थन किया है। उन्होंने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साहसी फैसला बताया है।

हालांकि क्रियान्वयन के तरीके पर असहमति जताते हुए नीतीश ने कहा कि नोटबंदी के फैसले से पहले केंद्र सरकार को पर्याप्त संख्या में छोटे नोट बैंकों में उपलब्ध करा देने चाहिए थे। इससे आम लोगों को परेशानी से बचाया जा सकता था।

बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के पहले दिन शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत में और बाद में एक बैठक में नोटबंदी, शराबबंदी एवं सरकार के सहयोगी दलों में मतभेद को लेकर उठ रहे सवालों पर अपना स्टैंड साफ किया।

दूसरा 500 एवं 1000 के नोट बंद करने के बाद दो हजार का नोट क्यों लाया गया। क्रियान्वयन पर आपत्तियों के बावजूद नोटबंदी की तारीफ करते हुए नीतीश ने कहा कि इससे कालाधन पर अंकुश लगेगा और देश को लाभ होगा।

मुख्यमंत्री ने शराब के कारोबार में भी काला धन होने की बात कही और प्रधानमंत्री को बेनामी संपत्ति अर्जित करने वालों के खिलाफ अगली कार्रवाई करने की सलाह दी। नोटबंदी पर सत्ता पक्ष के अलग-अलग बयानों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि महागठबंधन के तीन घटक दल हैं।