मुसलमानों को वोट बैंक न समझा जाए: पीएम मोदी

नई दिल्ली (25 सितंबर): बीजेपी राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि मुसलमानों को वोट बैंक न समझा जाए। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने कहा था कि मुसलमानों का सम्मान करें। पीएम मोदी ने बैठक से कहा कि हमारा भाव सबके लिए सबके साथ होना चाहिए।

पीएम मोदी के भाषण के मुख्य अंश: - जड़ों से जुड़ने के लिए कालीकट कोझिकोड बना। - हम लोग लेने, पाने, बनने के लिए निकले हुए लोग नहीं है। - 125 करोड़ की आबादी वाला देश है यह। इस जवानी वाले देश के सपने और संकल्प भी जवान होनी चाहिए। - लोगों के कल्याण में खुद को खपा देंगे, आजादी के बाद राजनीति में गिरावट आई। कुछ लोगों के कारण राजनीति के स्तर में गिरावट आई। - हमें राजनीति में दोबारा सम्मान लाना होगा। लोकतंत्र के लिए राजनीति का सम्मान लौटाना जरूरी है। - दीनदयाल उपाध्याय जी ने कहा था कि मुसलमानों को अपना समझें, वोट की वस्तु का माल न समझे। - दीनदयाल उपाध्याय कहते थे कि समाज का कोई भी अंग हमारे लिए अछूत नहीं होना चाहिए। - दीनदयाल उपाध्याय जी कहते थे कि मुसलमानों को पुरस्कृत और तिरस्कृत नहीं किया जाना चाहिए। - इस प्रकार का माहौल बना दिया गया है कि देशभक्ति को भी कोसा जाता है। - समाज के निचले वर्ग का विकास करना होगा। - हमारी विकास यात्रा में कोई पीछे नहीं रह सकता। - हमारा प्रयास रहेगा कि हम संतुलित विकास यात्रा को आगे बढ़ाएं। - दो अक्टूर को भारत कोप समझौते को अनुमोदित करेगा। - दुनिया ने माना, पर्यावरण रक्षा में भारत सबसे आगे। - भारत सरकार की सभी योजनाओं के केंद्र बिंदु में गरीब है। - समाज में एकात्मता का भाव होना चाहिए। - हम पार्टी के 11 करोड़ सदस्यों को कैडर में बदलेंगे।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=PcRwSBHZ2Uo[/embed]