'ज्यादा मेहनत न किया करें, टीवी पर चेहरा थका हुआ दिखता है'

  नई दिल्ली (12 अगस्त): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में स्वतंत्रता दिवस के भाषण के लिए लोगों से सुझाव मांगे थे। उनके पास देशभर से अब तक 2500 से ज्यादा सुझाव आ चुके हैं। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, लोगों ने गाय, कचरा, दलित, एलजीबीटी, मुस्लिम, टैक्स, गुलदस्ते, कश्मीर, यूपी में लाइसेंस से लेकर 15 अगस्त के सेलिब्रेशन जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखी है।  - एक शख्स ने कहा- "पीएम ज्यादा मेहनत न किया करें, क्योंकि टीवी पर चेहरा थका हुआ दिखता है।"  - बता दें कि पीएम इन सभी सजेशन में से कुछ को 15 अगस्त की स्पीच में शामिल करेंगे।  - कोई भी पीएम को नरेंद्र मोदी एप और MyGov.in पर सजेशन दे सकता है। - 2017 को गोरक्षा वर्ष के रूप में मनाने का एलान किया जाए। गाय समेत दूसरे जानवरों के लिए एम्बुलेंस चलाई जाए। - लोगों ने मोदी को सलाह दी है कि उन्हें इस स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की जगह कश्मीर जाकर तिरंगा फरहाना चाहिए। - एक सुझाव में पीएम को गुलदस्ते ना लेने की सलाह दी गई। - सुझाव में कहा गया- "अगर पीएम साल के 300 दिनों में ही रोज 10 मीटिंग में 10-10 गुलस्ते स्वीकार करें और हर गुलदस्ता एवरेज 500 रुपए का हो तो इसकी सालाना लागत 1.5 करोड़ रुपए होगी।" - पीएम अपनी स्पीच में जम्मू-कश्मीर के घोषित 80 हजार करोड के पैकेज की डिटेल में जानकारी दें, ताकि यह साबित किया जा सके कि बीजेपी किसी को फेवर तो नहीं कर रही है।