15 अगस्त: इस बार सबसे अलग होगी लाल किले की सुरक्षा व्यवस्था

नई दिल्ली(12 अगस्त): 15 अगस्त के मौके पर लाल किले पर आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर हवा से जमीन तक और उसके अंदर भी कई स्तरों की सुरक्षा का इंतजाम किया गया है। यहां तैनात सुरक्षा बल बेरेता असॉल्ट राइफलों, हाई-टेक गैजेटों, बॉडी आर्मर्स, हेल्मेट और दूरबीनों से लैस रहेंगे।

उत्तरी दिल्ली के डीसीपी मधुर वर्मा का कहना है, 'ऐंटी-सैबटाज टीमें लगातार चेकिंग और रेंडम सर्च कर रही हैं।' जानिए, लाल किले और वीवीआईपी किस तरह 10 'सुरक्षा चक्रों' में कैद रहेंगे...

1- लाल किले के आसपास 44 बैरिकेड्स पर टायर किलर तैनात रहेंगे, जो जमीनी खतरों को नाकाम करेंगे।

2- ऊंची इमारतों पर पहली बार NSG के ट्रेन किए हुए ड्रोन डिटेक्टर और पैराग्लाइडर हवाई सुरक्षा में तैनात रहेंगे।

3- दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 9 हजार से ज्यादा जवान किले के आसपास और उन रास्तों पर रहेंगे, जहां से पीएम और दूसरे वीवीआईपी लाल किले तक आएंगे। इस काफिले पर नजर रखने को सीसीटीवी की लाइन लगाई गई है।

4- लाल किले के नीचे दिल्ली मेट्रो टनल एक दिन पहले ही बंद हो जाएगी और इसके दोनों साइडों पर गार्ड तैनात रहेंगे। दिल्ली रेलवे स्टेशन की कार्गो फसिलिटी भी 13 से 15 अगस्त तक बंद रहेगी।

5- लाल किले के पास महत्वपूर्ण जगहों पर 300 से ज्यादा शार्पशूटर तैनात रहेंगे। सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्यॉरिटी फोर्स (CISF) के 50 शार्प शूटर रहेंगे।

6- NSG, SWAT और BSF के कमांडो कार्यक्रमस्थल के आसपास हर 500 मीटर के दायरे में खड़े किए जाएंगे।

7- लाल किले की ओर खुलने वाली 105 खिड़कियों पर नजर रखने को सुरक्षा एजेंसियां पैनरैमिक फटॉग्रफी करेंगी। लाल किले की दो ऊंची मीनारों पर 5 किमी तक देख सकने वाले अल्ट्रा-हाई रेजॉलूशन कैमरे लगाए जाएंगे।

8- 31 QRT के साथ 71 ऐम्बुलेंस भी मौके पर तैनात रहेंगी।

9- लाल किले के पास 3000 पेड़ों के पास हथियारबंद जवान तैनात रहेंगे

10- 500 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों से लाल किले के पास की छतों के ऊपर नजर रखी जाएगी।