कश्मीर समस्या का हल न गाली न गोली से, गले लगाने से: पीएम मोदी

नई दिल्ली(15 अगस्त): देश की आजादी के 70 साल पूरा होने के मौके पर पीएम मोदी ने लालकिले पर तिरंगा फहराया। पीएम मोदी ने इस मौके पर देश को संबोधित किया। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले देशवासियों को आजादी के पावन पर्व की शुभकामनाएं दी। 

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश पूरा देश आजादी के पर्व के साथ जन्माष्टमी का पर्व भी मना रहा है। मेरे सामने बाल कन्हैया भी बैठे हैं। सुदर्शन चक्र धारी मोहन से लेकर चरखाधारी मोहन तक हमारी सांस्कृतिक ऐतिहासिक विरासत के हम सभी धनी हैं। 

संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि देश की आजादी के लिए जिन-जिन लोगों ने अपना योगदान दिया है, यातनाएं झेली हैं, बलिदान दिया है त्याग और तपस्या की परिकाष्ठा की है, ऐसे सभी महानुभावों और माता-बहनों को लाल किले की प्राचीर से, 125 करोड़ भारतीयों की तरफ से शत-शत नमन।

कश्मीर के हालात पर बोले पीएम

जम्मू-कश्मीर का विकास, सामान्य नागरिक के सपनों को पूरा करना जम्मू-कश्मीर की सरकार के साथ इस देशवासियों का संकल्प है। कश्मीर के अंदर जो कुछ होता है, आक्षेप भी बहुत होते हैं। मैं साफ मानता हूं कि कश्मीर में जो कुछ हो रहा है मेरे दिमाग में साफ है कि न गाली से समस्या सुलझेगी न गोली से परिवर्तन होगा कश्मीरियों को गले लगाकर। आतंकवादियों को बार-बार हमने कहा है कि आप मुख्यधारा में आइए। आतंकियों के साथ कोई नर्मी नहीं बरती जाएगी।