पीएम मोदी बोले- भारत कभी जमीन का भूखा नहीं रहा

नई दिल्ली(2 अक्टूबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दिल्ली में प्रवासी भारतीय केंद्र का इनॉगरेशन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सालों से हम सुनते आए हैं कि देश में पढ़-लिखकर लोग विदेश चले जाते हैं। लेकिन मेरा मानना है कि ब्रेन ड्रेन ब्रेन गेन में बदल सकता है। उन्होंने कहा कि भारत कभी भी जमीन का भूखा नहीं रहा।

और क्या कहा मोदी ने...

- दिल्ली में रविवार को प्रवासी भारतीय केंद्र के इनॉगरेशन के मौके पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह और एमजे अकबर मौजूद थे।

- मोदी ने कहा- "दुनिया का भारत को लेकर अट्रेक्शन बढ़ा है। हमें दुनियाभर में फैली इंडियन कम्युनिटी से जुड़ने की जरूरत है।" 

- "महात्मा गांधी प्रवासी भारतीयों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हैं। पिछले दो साल में भारत के फॉरेन डिपार्टमेंट ने मानवता के मुद्दे पर अपनी साख बनाई है।" 

- "दुनिया के कई देश विदेश में लोगों के फंसे होने पर भारत से संपर्क करते हैं। दुनिया में करीब 3 करोड़ लोग प्रवासी भारतीय या भारतीय हैं। कई देशों में प्रवासी भारतीयों की ताकत वहां के मुखिया पहचानते हैं।"

- बता दें कि इससे पहले, वे महात्मा गांधी की 147वीं जयंती के मौके पर श्रद्धांजलि देने के लिए राजघाट पहुंचे थे।

भारत कभी जमीन का भूखा नहीं रहा

- मोदी ने कहा- "यह देश कभी जमीन का भूखा नहीं रहा है, कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया।" 

- "हमारे प्रवासी भारतीय विदेश जाकर राजनीति नहीं करता है। वहां के समाज से घुल मिल जाते हैं। लेकिन अपने उसूलों को हमेशा जीवित रखते हैं।" 

- "भारत में टूरिज्म सेक्टर का बड़ा कारोबार है। दुनिया में 200 साल पुरानी विरासतें देखने को मिलती हैं, लेकिन हम 5 हजार साल से शुरू करते हैं।"