पीएम मोदी ने वाराणसी में किया देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन

                                                                    Photo: Twitter

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 12 नवंबर ): वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामनगर में बने देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल को राष्ट्र के नाम समर्पित किया। मल्टी मॉडल टर्मिनल के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर गंगा में बने जेटी पर उतरा। यहां से वो पैदल चलते हुए बंदरगाह के टर्मिनल पर पहुंचे। 

वाराणसी के खिड़किया घाट पर पीएम मोदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल को राष्ट्र को समर्पित किया। इस दौरान उन्होंने मालवाहक जहाज 'टैगोर' से कंटेनर अनलोडिंग की शुरुआत भी की।  

                                                                   Photo: Twitter

पीएम द्वारा उद्घाटित वाराणसी के मल्टी मॉडल टर्मिनल को 206 करोड़ की लागत से तैयार किया गया है। टर्मिनल की 200 मीटर लंबी और 45 मीटर चौड़ी जेटी पर माल की लोडिंग तथा अनलोडिंग के लिए दुनिया की अत्‍याधुनिक हैवी क्रेन लगाई गई है। जर्मनी में तैयार हुई मोबाइल हार्बर क्रेन की कीमत 28 करोड़ रुपये है।  

                                                                   Photo: Twitter

सागरमाला प्रॉजेक्‍ट से जुड़ेगा वाराणसी हल्दिया जलमार्ग शुरू होने से सागरमाला प्रॉजेक्‍ट के जरिए भारत दक्षिण एशिया के कारोबार में चीन के मुकाबले अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करा सकेगा। वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री मोदी ने ही सागरमाला प्रॉजेक्ट की शुरुआत की थी ताकि सड़क, विमान के अलावा बदंरगाहों के जरिए भी आर्थिक रूट बन सके और देश में कारोबार को गति मिल सके। इस लिहाज से वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग में गंगा के रास्‍ते व्‍यापारिक गतिविधियां होने से रामगनर टर्मिनल के जरिए उत्तर भारत को पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत, बांग्‍लादेश, नेपाल, म्‍यांमार और अन्‍य दक्षिण एशियाई देशों को जोड़ेगा।  

सभा को संबोधित करेंगे पीएम मोदी बता दें कि मंगलवार को इस प्रवास के दौरान पीएम हरहुआ के पास वाजिदपुर में जनसभा को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री की सभा के लिए इस गांव को चुनने के पीछे अहम वजह है। सभा स्‍थल पर बनाए गए मंच से प्रधानमंत्री के सामने वह रिंग रोड और बाबतपुर फोरलेन दिखाई देगी, जिसका वे लोकार्पण करने वाले हैं। वाराणसी से बाबतपुर तक करीब 18 किलोमीटर लंबे फोरलेन को 812 करोड़ की लागत से तैयार किया गया है। इसे जगमग करने के लिए फसाड़ लाइटों के साथ तीन किलोमीटर लंबे फ्लाईओवर के नीचे सतरंगी लाइटें और फौव्‍वारा बनाया गया है। हाइवे के बीच में रंग-बिरंगे फूल वाले पौधे भी लगाए गए हैं।