PM मोदी की अपील, राष्ट्र निर्माण की मुख्यधारा से जुड़े CA

नई दिल्ली (1 जुलाई): GST लागू होने के बाद आज द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया यानी ICAI के कार्यक्रम में हिस्सा लिया।  ICAI के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए PM मोदी ने CA के नए सिलेबस को लॉन्च किया और ICAI को स्थापना दिवस की बधाई दी। इस दौरान लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए, जिस पर पीएम मोदी ने उनका शुक्रिया अदा किया।

पीएम मोदी ने कहा कि GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है. चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को देश की संसद ने पवित्र अधिकार दिया है। GST आर्थिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। CA अर्थजगत के बड़े स्तंभ है, जिन पर देश की आर्थिक जिम्मेदारी होती है। उन्होंने कहा कि शास्त्रों में चार पुरुषार्थ बताए गए हैं, जिसमें अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष शामिल हैं। उन्होंने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंड अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं, जो इस अर्थ के क्षेत्र में लोगों को मार्ग दिखाते हैं।

मोदी ने कार्यक्रम में मौजूद CA से कहा कि मेरी और आपकी देशभक्ति में कोई अंतर नहीं है। जनता देश को संकट से उबार देती है, लेकिन अगर उस देश में कुछ लोगों को चोरी करने की आदत पड़ जाए, तो वह देश कभी नहीं उठ पाता। सारे सपने टूट जाते हैं और विकास रुक जाते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार ने कई कानून बनाए हैं और पुराने कानूनों को सख्त किया गया है।

उन्होंने कहा कि पिछले 11 साल में सिर्फ 25 CA के खिलाफ कार्रवाई हुई। उन्होंने सवाल किया कि क्या इतने समय में सिर्फ 25 CA ने ही गड़बड़ी की। देश के लोग चोरी करने लगे, तो विकास रुक जाता है। देश के खजाने में अपनी जिम्मेदारी को जोड़ना होगा। गैर कानूनी काम में शेल कंपनियों की किसी न किसी CA ने मदद की होगी। उन्होंने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंट के हस्ताक्षर पीएम के हस्ताक्षर से भी ज्यादा ताकतवर होते हैं। CA के हस्ताक्षर पर सरकार भरोसा करती है और कंपनियों को रजिस्टर्ड कर दिया जाता है। ऐसे में सीए को देशवासियों का भरोसा नहीं टूटने देना चाहिए। इस दौरान मोदी ने कहा कि सीए का मतलब अब चार्टर्ड एंड एक्यूरेसी और चार्टर्ड एंड ऑथेंटिसी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि टैक्स के पैसे से गरीब महिलाओं को गैस कनेक्शन, बुजुर्गों को पेंशन और सरहद पर देश की रक्षा करने वाले जवानों को सैलरी दी जाती है.

उन्होंने CA से अपील की वे अपने क्लाइंट को ईमानदारी से टैक्स भरने की सलाह दें। मोदी ने देश के सीए का अह्वान किया कि वह भारत के सपनों को पूरा करने में योगदान दें। उन्होंने यह भी अपील की कि क्या साल 2022 तक जब हम आजादी के 75 साल मना रहे हों, तो यहां पर मौजूद CA बिग फॉर में शामिल होकर देश का नाम रोशन नहीं कर सकते हैं। दरअसल, बिग फॉर दुनिया के शीर्ष ऐसे संस्थान हैं, जो बड़ी-बड़ी वैश्विक कंपनियों को सेवाएं देती हैं।

PM मोदी की बड़ी बातें...

- राष्ट्र निर्माण की मुख्यधारा से जुड़े CA

- अगर CA चाह लें तो टैक्स चोरी कोई नहीं कर पाएगा

- लोगों को ईमानदारी से टैक्स जमा करने के लिए प्रेरित करना होगा

- आप मेरी भावना समझिए, देश अहम मोड़ पर खड़ा है

- देश के भरोसे को ना टूटने दें CA

- देश के सवा सौ करोड़ लोगों को आपके एक हस्ताक्षर पर भरोसा है

- देश में किसी के हस्ताक्षर की ताकत उतनी नहीं है जितनी एक CA के हस्ताक्षर की ताकत होती है

- शेल कंपनियों की किसी न किसी CA ने मदद की होगी

- 37 हजार शेल कंपनियों की पहचान कर ली गई है

- 11 साल में सिर्फ 25 सीए पर कार्रवाई हुई है

- देश में हर साल करोड़ों गाड़ियां खरीदी जाती हैं, लेकिन टैक्स नहीं दिया जाता

- देश में महज 32 लाख लोग हैं जो अपनी इनकम 10 लाख रुपये से ज्यादा बताते हैं

- कालेधन की कार्रवाई में 1 लाख कंपनियों पर ताला लगाया गया

- जिन्होंने गरीबों को लूटा है उन्हें गरीबों को लौटाना ही होगा

- भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं, देश में 3 लाख कंपनियां शक के घेरे में

- नोटबंदी का फैसला कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बहुत बड़ा कदम था

- स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45% की कमी आई

- GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है

 - चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को देश की संसद ने पवित्र अधिकार दिया है

- अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं CA

- देश के आर्थिक स्वास्थ्य के लिए GST जरूरी- PM मोदी