नोट बंदी : पीएम मोदी ने देर रात बुलाई समीक्षा बैठक, कई मुद्दों पर की चर्चा

नई दिल्ली ( 14 नवंबर ) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोट बंदी के मसले पर रविवार देर रात अपने आवास समीक्षा बैठक बुलाई। जिसमें मंत्री वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की, जिसमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू, बिजली, कोयला और खान मंत्री पीयूष गोयल, आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास और वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

इस बैठक में देश में नोट बैन के बाद पैसों की कमी की वजह से लोगों में पनप रहे अधैर्य और गुस्से के बारे में चर्चा की गई। पीएम मोदी ने इस मीटिंग में उन स्टैप्स के बारे में विस्तार से बात की जो कैश की सप्लाई को सुधारने के लिए पहले से ही लिए जा चुके हैं।

बैठक में जिन बिंदुओं पर चर्चा हुई

-बैंकों को कम से कम 50 हजार रुपये तक कैश लिमिट बढ़ाने की सलाह दी गई।

-एटीएमों के रेकैलिब्रेशन की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए रणनीति बनाने को कहा गया जिससे लोग नई मुद्रा को जल्द से जल्द प्राप्त कर सकें।

-इस बीच अधिक आबादी वाले क्षेत्रों में और भी अधिक संख्या में माइक्रो एटीएम लगाए जाएंगे।

-फिलहाल कुछ जगहों पर 500 और 1000 के पुराने नोट स्वीकार करने की लास्ट डेट 14 नवंबर से 24 नवंबर की मध्यरात्रि तक बढ़ा दी गई है।

-बैंकों में सीनियर सिटिजन्स और दिव्यांगों के लिए अलग से लाइन लगाए जाएगी।

-उन लोगों की अलग लाइन लगाई जाएगी जो कुछ पुराने नोटों को बदलने के लिए बैंक आए हुए हैं।