भारत ने की पाक और चीन को घेरने की तैयारी, अमेरिका से ये हुई डील

नई दिल्ली (30 अगस्त): चीन और पाकिस्तान को चारों ओर से घेरने के कोशिश को और मजबूत करने के लिए भारत ने बड़ा कदम उठाया है। भारत ने यूएस के साथ बड़ा डिफेंस लॉजिस्टिक्स समझौता किया है। इसके तहत दोनों देशों (भारत-अमेरिका) की सेनाएं एक-दूसरे की जमीन, हवाई और नौसैनिक अड्डे के विकास, मरम्मत और अन्य गतिविधियां साझा करेंगीं।

इस मौके पर वर्जिनिया में भारतीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि भारत के पड़ोस से आतंकवाद खत्म करने के हमारे प्रयासों में अमेरिका के सहयोग की सराहना करता हूं। वहीं इस मौके पर अमेरिकी रक्षा मंत्री कार्टर ने एमटीसीआर में भारत की सदस्यता का स्वागत किया और एनएसजी में भारत की सदस्यता के लिए अमेरिका के समर्थन की बात दोहराई।

वॉशिंगटन में सोमवार को डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर और उनके अमेरिकी काउंटरपार्ट एश्टन कार्टन ने लॉजिस्टिक एक्सचेंज मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट (LEMOA) पर साइन किए। माना जा रहा है कि इस डील का मकसद चीन को समंदर में आगे बढ़ने से रोकना है।

पर्रिकर ने कहा, 'समझौते के तहत भारत-अमेरिकी नेवी एक-दूसरे को ज्वाइंट ऑपरेशन और एक्सरसाइज में सपोर्ट करेंगी।' LEMOA के तहत दोनों देश एक-दूसरे से पानी और खाने जैसे रिसोर्सेज की भी शेयरिंग करेंगे। हालांकि इस समझौते के मायने भारत की धरती पर अमेरिकी सैनिकों की तैनाती नहीं है। वहीं, भारत के किसी मित्र देश से अमेरिका अगर वॉर छेड़ता है तो उसे ये फैसिलिटी नहीं मिलेगी।