PM मोदी ने बिहार में बाढ़ की तबाही का लिया हवाई जायजा, 500 करोड़ की मदद का ऐलान

पटना (26 जुलाई): बिहार के 19 जिलों में बाढ़ से हाहाकार मचा है। यहां बाढ़ की चपेट में आने से 400 से ज्यादा लोगों की मौते हो चुकी है जबकि एक करोड़ से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। इसी कड़ी में आज प्रधानमंत्री मोदी बिहार पहुंचे और बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया किया। पीएम मोदी ने हेलीकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित पूर्णिया, अररिया, कटिहार और किशनगंज इलाके का हवाई सर्वेक्षण किया और बाढ़ प्रभावित इलाकों की तबाही देखी।  

हवाई सर्वेक्षण के बाद पीएम मोदी मुख्यमंत्री के साथ चूनापुर एयरबेस के कांफ्रेंस हॉल में एक बैठक की जिसपर बाढ़ पीड़ितों की मदद की गहन समीक्षा की गई।बैठक करीब पैंतालिस मिनट तक चली। बैठक में केंद्र व राज्य सरकार के आला अधिकारी भी मौजूद रहे। इसके बाद प्रधानमंत्री ने राज्य को हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। उन्होंने 500 करोड़ रुपए की तुरंत सहायता की भी घोषणा की। 

प्रधानमंत्री ने नुकसान के आकलन के लिए तुरंत ही एक केंद्रीय टीम भेजने का भी आश्वासन दिया है। बाढ़ से प्रभावित सड़कों की मरम्मत के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय को उपयुक्त कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है। बाढ़ से प्रभावित विद्युत् इंफ्रास्ट्रक्चर की शीघ्र बहाली के लिए भी केन्द्र, राज्य सरकार की हर संभव मदद करेगा। प्रधान मंत्री राहत कोष से प्रत्येक मृतक के परिवार को 2 लाख रुपए एवं गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 50 हजार रुपए की दर से सहायता दी जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को सीमांचल के बाढ़ प्रभावित जिलों का हाल जानने और बाढ़ पीड़ितों की जानकारी लेने दिल्ली से पूर्णिया के चूनागढ़ एयरबेस पहुंचे। पूर्णिया पहुंचने पर सीएम नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार सुशील मोदी ने पीएम की अगुवाई की।