मोदी सरकार ने किए ये दो बड़े फैसले, किसानों को मिलेगा फायदा

Photos: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (29 दिसंबर): तीन प्रदेशों में चुनाव हारने के बाद बीजेपी लोकसभा चुनावों में किसानों को नाराज नहीं देखना चाहती। ऐसे में मोदी सरकार ने किसानों को ध्यान में रखते हुए पिछले 24 घंटे में दो बड़े फैसले किए है। प्याज पर किसानों को नए साल का तोहफा देते हुए सरकार ने निर्यात प्रोत्साहन योजना के तहत प्याज पर दिए जाने वाले प्रोत्साहन को 5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दिया है। जिससे किसानों को अपनी आमदनी बढ़ाने का मौका मिलेगा।

इसी के साथ सरकार ने मटर के इंपोर्ट पर रोक को आगे बढ़ा दिया है। मटर के इंपोर्ट पर अब 31 मार्च तक रोक लगा दी गई है। आपको बता दें मटर के इंपोर्ट पर लगी रोक की मियाद 31 दिसंबर को खत्म हो रही थी। इस फैसले से घरेलू किसानों को फायदा मिलेगा, क्योंकि विदेशों से सस्ती मटर देश में नहीं आ पाएगी। लिहाजा देश के किसान अच्छे दामों पर अपनी फसल को बेच पाएंगे। देश में मटर का उत्पादन लगातार बढ़ रहा है। इस रबी सीजन में मटर की बुवाई पिछले साल के मुकाबले 9.13 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 9.97 लाख हेक्टेयर पहुंच गई है।

प्याज एक्सपोर्ट इंसेंटिव बढ़ाने के बाद सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बाजार में प्याज की आवक बढ़ी है, इसलिए मंडी में प्याज की सही कीमत नहीं मिल रही। इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने प्याज के निर्यात को बढ़ावा देने का फैसला किया, ताकि घरेलू बाजार में कीमतों में स्थिरता आए। एमईआईएस योजना के तहत प्रदान किए जा रहे निर्यात प्रोत्साहन को दोगुना कर 10 फीसदी कर दिया गया है। इससे पहले इस साल जुलाई से पहले ताजे प्याज के लिए निर्यात प्रोत्साहन शून्य था।रबी दलहन की बुवाई कम: रबी दलहन की बुवाई चालू सीजन में 6.36 फीसदी घटकर 140.67 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक 150.19 लाख हेक्टेयर में इनकी बुवाई हो चुकी थी।