अभी और कठोर फैसले लिए जाएंगे- PM मोदी

नई दिल्ली (1 जुलाई): द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया यानी ICAI के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिन्‍होंने गरीबों को लूटा, उन्‍हें गरीबों को लौटाना ही पड़ेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अभी और कठोर फैसले लिए जाएंगे।


जहां देशभर के CA से राष्ट्र निर्माण में हिस्सा लेने की अपील की वहीं उन्होंने नोटबंदी को सरकार के ऐतिहासिक फैसला बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 8 नवंबर का दिन CA लोग कभी नहीं भूल पाएंगे। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि 8 नवंबर के बाद सीए लोगों को इतना काम करना पड़ा, जितना उन्होंने पूरे करियर में नहीं किया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सिर्फ 48 घंटे में ही 1 लाख कंपनियों का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया। ये बड़ा कदम राजनीति से परे हटकर लिया गया। सरकार ने एक मिनट में एक लाख से ज्यादा कंपनियों को कलम के एक झटके से खत्म कर दिया। ये ताकत राष्ट्रभक्ति से आती है।


पीएम मोदी ने कहा कि 37 हजार कंपनियां जो अवैध कामों में लिप्त थी, उनके खिलाफ कठोर कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसी कंपनियां अवैध लेन-देनों में लिप्त थी। ये कालेधन का हेर-फेर कर रही थी। ये सभी कंपनियां फर्जी थी। ऐसे कदम का राजनीतिक दल को बड़ा नुकसान हो सकता है, पर हमनें देश के लिए ये कदम उठाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसी भी देश की व्यवस्था गड़बड़ा गई हो, तो उसे मिलकर संभाल लिया जाता है। पर अगर कुछ लोगों को चोरी करने की आदत लग जाए, तो देश और समाज कभी खड़ा नहीं हो पाता है।


PM मोदी की बड़ी बातें...

- राष्ट्र निर्माण की मुख्यधारा से जुड़े CA

- अगर CA चाह लें तो टैक्स चोरी कोई नहीं कर पाएगा

- लोगों को ईमानदारी से टैक्स जमा करने के लिए प्रेरित करना होगा

- आप मेरी भावना समझिए, देश अहम मोड़ पर खड़ा है

- देश के भरोसे को ना टूटने दें CA

- देश के सवा सौ करोड़ लोगों को आपके एक हस्ताक्षर पर भरोसा है

- देश में किसी के हस्ताक्षर की ताकत उतनी नहीं है जितनी एक CA के हस्ताक्षर की ताकत होती है

- शेल कंपनियों की किसी न किसी CA ने मदद की होगी

- 37 हजार शेल कंपनियों की पहचान कर ली गई है

- 11 साल में सिर्फ 25 सीए पर कार्रवाई हुई है

- देश में हर साल करोड़ों गाड़ियां खरीदी जाती हैं, लेकिन टैक्स नहीं दिया जाता

- देश में महज 32 लाख लोग हैं जो अपनी इनकम 10 लाख रुपये से ज्यादा बताते हैं

- कालेधन की कार्रवाई में 1 लाख कंपनियों पर ताला लगाया गया

- जिन्होंने गरीबों को लूटा है उन्हें गरीबों को लौटाना ही होगा

- भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं, देश में 3 लाख कंपनियां शक के घेरे में

- नोटबंदी का फैसला कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बहुत बड़ा कदम था

- स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45% की कमी आई

- GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है

 - चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को देश की संसद ने पवित्र अधिकार दिया है

- अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं CA

- देश के आर्थिक स्वास्थ्य के लिए GST जरूरी- PM मोदी