चीन समझे हमारी संवेदनशीलता- पीएम मोदी

नई दिल्ली (17 जनवरी): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे रायसीना डायलॉग के उद्घाटन के मौके पर कहा कि दुनिया को भारत के सतत विकास की उतनी ही जरूरत है जितनी भारत को दुनिया की। चीन का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दो बड़े पड़ोसी शक्तियों के बीच कुछ मतभेद असामान्य बात नहीं है लेकिन दोनों पक्षों को संवेदनशीलता और मुख्य चिंताओं एवं हितों पर एक दूसरे प्रति सम्मान का भाव दिखाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मौजूदा अनुभव बताता है कि यह सदी एशिया की होगी। हम दोनों देशों के लिए भरपूर अवसर है। लिहाजा हमें एक दूसरे की चिंताओं और हितों के प्रति सम्मान और संवेदनशीलता दिखानी होगी।