Blog single photo

पीएम मोदी ने इमरजेंसी को बताया 'काला दौर'

पीएम मोदी आज बीजेपी के एक कार्यक्रम में 1975 में आपातकाल के खिलाफ लड़ाई वाले लोगों से मिलेंगे। पीएम मोदी इस कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे। कार्यक्रम का उद्देश्य उन लोगों के प्रति आभार प्रकट करना है, जिन्होंने 1975 में आपातकाल के खिलाफ लड़ाई लड़ी और लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षित करने के बारे में सोचा। पीएम मोदी ने आपातकाल के उस दौर को 'डार्क पीरियड' बताया है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 जून): पीएम मोदी आज बीजेपी के एक कार्यक्रम में 1975 में आपातकाल के खिलाफ लड़ाई वाले लोगों से मिलेंगे। पीएम मोदी इस कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे। कार्यक्रम का उद्देश्य उन लोगों के प्रति आभार प्रकट करना है, जिन्होंने 1975 में आपातकाल के खिलाफ लड़ाई लड़ी और लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षित करने के बारे में सोचा। पीएम ने आपातकाल के उस दौर को 'डार्क पीरियड' बताया है।

पीएम मोदी ने आज सुबह ट्वीट कर 1975 के उस वक्त की आलोचना की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'राजनीतिक शक्ति के लिए सिर्फ जनता ही नहीं बल्कि विचारों की आजादी को भी बंधक बनाया गया।'25-26 जून की रात लागू उस आदेश के बाद देश के हालात पर भी पीएम मोदी ने राय रखी. उन्होंने लिखा, 'मैं सभी पुरुषों और महिलाओं के जज्बे को सलाम करता हूं, जिन्होंने आपातकाल का पुरजोर विरोध किया.' पीएम मोदी ने कहा कि 43 साल पहले लागू किए गए आदेश को भारत काले दौर के तौर पर याद रखेगा, जहां सभी संस्थानों को दबाया गया और खौफ का माहौल पैदा किया गया।

आपको बता दें कि आज भारतीय जनता पार्टी इमरजेंसी के खिलाफ देश भर में दिन भर काला दिवस मनाने जा रही है। 26 जून को 43 साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल का ऐलान किया था। उस दिन सुबह 8 बजे इंदिरा गांधी ने रेडियो पर आपातकाल का ऐलान किया था।

NEXT STORY
Top