रहें तैयार, पीएम मोदी कभी भी कर सकते हैं आपको फोन


नई दिल्ली(2 मई): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आम लोगों से अपना सीधा संवाद और मजबूत करेंगे। अब वह सीधे किसी भी समय आमलोगों से चल रही सरकारी योजनाओं के बारे में सीधे फीडबैक ले सकते हैं।


- दरअसल "मन की बात" में अपने सुझाव देने के लिए लाखों लोग प्रधानमंत्री मोदी को फोन, ईमेल और अलग-अलग माध्यम से जुड़ते हैं। अभी उनमें से कई सुझाव का जिक्र पीएम मोदी अपने मन की बात के कार्यक्रम में भी करते हैं लेकिन सीधे बात करने से पीएम और आम लोगों के बीच दोतरफा संवाद शुरू होगा।


- दरअसल पीएम मोदी ने इससे पहले भी कई मौकों पर जनता से संवाद कर उनसे मिले सुझावों को सरकार में जगह दी है। चाहे बजट में नये प्रस्ताव की बात हो या फिर नयी योजनाओं को नाम देने का मामला, पीएम ने सभी मुद्दों पर जनता की राय मांगने की परंपरा शुरू की।


- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से इससे पहले कई पहले कई बार अपने सरकार के मंत्रियों और पार्टी के एमपी से भी आम लोगों से अधिक कनेक्ट करने का निर्देश दिया जा चुका है। बजट सत्र के बाद भी पीएम ने सभी मंत्रियों को अपने पार्टी के एमपी से सीधा संवाद करने को कहा थ ताकि उन्हें नियमित फीडबैक मिल सके। यह निर्देश तब दिया गया जब उन्हें ऐसी शिकायतें मिली जिसमें कहा गया कि आम लोगों को सरकार की अच्छी योजनाओं के बारे में पता नहीं होता है और जमीन तक तमाम सूचनाएं नहीं जा पा रही है। साथ ही शीर्ष तक आम लोगों की आवाज नहीं आ पा रही है। इसी क्रम में दोतरफा संवाद की अगुवाई खुद पीएम मोदी करेंगे।