मोदी के मंत्रियों ने अपनी गाड़ी से हटवाई लालबत्ती


नई दिल्ली(19 अप्रैल): मोदी कैबिनेट ने मंत्रियों-अफसरों की गाड़ियों से लाल बत्ती हटाकर वीआईपी कल्चर खत्म करने का फैसला लिया। इसे 1 मई से अमल में लाने की बात कही गई है, लेकिन बुधवार को खुद पहल करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, स्मृति ईरानी, उमा भारती, गिरिराज सिंह, महेश शर्मा, राधा मोहन सिंह और विजय गोयल ने बत्तियां हटवा दीं। कैबिनेट ने सेंट्रल व्हीकल एक्ट में बदलाव को मंजूरी दे दी है। जिसके मुताबिक, अब केंद्र या राज्य कहीं भी लाल बत्ती का इस्तेमाल नहीं हो सकेगा। सिर्फ इमरजेंसी सर्विस में नीली बत्ती लगाने की छूट दी गई है।


- गडकरी ने कहा, ''सिर्फ इमरजेंसी सर्विस (एम्बुलेंस, फायर ब्रिगेड और पुलिस) के लिए बत्ती का चलन रहेगा, इसके अलावा नहीं। मैंने कार से लाल बत्ती को हटा दिया। ये आम आदमी की सरकार है। हम वीआईपी कल्चर खत्म कर रहे हैं।''


- स्मृति ईरानी ने ट्विटर पर कार की फोटो शेयर करते हुए लिखा, ''हम मोदीजी के इस फैसले का स्वागत करते हैं। देश का हर नागरिक वीआईपी है।''


- महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने केंद्रीय कैबिनेट के फैसले का स्वागत किया और अपनी सरकारी गाड़ी से लाल बत्ती उतरवाई।