भारत में ही बनेगी बुलेट ट्रेन: पीएम मोदी

नई दिल्ली (14 सितंबर): बुलेट ट्रेन की आधारशिला के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान और वहां के पीएम शिंजो आबे का शुक्रिया अदा किया। हालांकि उन्होंने यह पर लोगों को संबोधित करते साफ किया कि भले ही बुलेट ट्रेन की तकनीक जापान से मिल रही हो, लेकिन अधिक संसाधन भारत में ही जुटाए जाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि यदि कोई कहता है कि पैसे ले लो और 50 साल में लौटा देना, तो इसपर विश्वास नहीं होगा। लेकिन जापान हमारा एक सच्चा दोस्त है और उसने बुलेट ट्रेन के लिए 88 हजार करोड़ रुपये मात्र 0.1 प्रतिशत ब्याज पर भारत को दिया है। उन्होंने कहा कि जब कोई शख्स कुछ भी खरीदता है तो एक-एक पैसे का हिसाब लगाता है। कोई एक बाइक भी खरीदता है तो 10 बैंकों के चक्कर लगाता है और कोई आधा पर्सेंट भी ब्याज दर कम कर दे तो खुशियां मनाता है।

मोदी के मुताबिक, बुलेट ट्रेन ऐसा प्रॉजेक्ट है जो तेज गति, तेज प्रगति, तेज टेक्नॉलजी के माध्यम से तेज परिणाम लाने वाला है। इसमें सुविधा भी है, सुरक्षा भी है। यह रोजगार भी लाएगा, रफ्तार भी लाएगा। यह ह्यूमन फ्रेंडली भी है, इको फ्रेंडली भी है। अपने संबोधन में मोदी ने जापान और शिंजो आबे को बार-बार धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि एक अच्छा दोस्त समय और सीमा के बंधनों से परे होता है। मोदी ने कहा कि जापान ने दिखा दिया है कि वह भारत का कितना मजबूत दोस्त है। यही नहीं, भारत का पहला हाई स्पीड रेल प्रॉजेक्ट दोनों देशों के बीच मजबूत होते रिश्तों का भी प्रतीक है।