15 अप्रैल को बागपत जाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली (26 मार्च): बागपत के लोगों के लिए खुशखबरी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अप्रैल को बागपत आकर ईस्टन पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे की सौगात देने जा रहें हैं। प्रधानमंत्री इसका शुभारंभ करेंगे और इसको लेकर तैयारियों भी शुरू हो गईं है। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डा. सत्यपाल सिंह ने बागपत के मवीकला गांव का दौरा किया और तैयारियों को लेकर चर्चा की।

प्रधानमंत्री के साथ-साथ कई केन्द्रीय मंत्री और प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री के आने की भी चर्चा है। बता दें कि ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर 14 सितंबर 2015 को शुरू हुआ था काम। 7 हाइवे से कनेक्ट होगा ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे। इसके निर्माण पर करीब 14 हजार करोड़ रूपये की लागत आई है। ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से वाहन चलाए जा सकेंगे।

बागपत के लोगों को गुड़गाव या नोएडा जाने के लिए दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा। बागपत समेत एनसीआर को इस ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे से काफी लाभ होगा। ईस्टन पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे को ग्रीन एक्सप्रेस-वे बनाया गया है और इसके आसपास पेड़ भी लगाए गए हैं, ताकि हरियाली बनी रहे। ईस्टन पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे बनने का बड़ा फायदा दिल्ली को भी होगा, क्योंकि दिल्ली में वाहनों का बोझ कम होगा।

केन्द्रीय मंत्री डा. सत्यपाल सिंह ने बागपत के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मंवीकला गांव का दौरा किया। हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम के लिए बागपत में स्थान तय नहीं हुआ है। डा. सत्यपाल सिंह का कहना है कि ईस्टन पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे बागपत के विकास के लिए महामार्ग होगा।