बेनामी संपत्ति पर सख्त हुए पीएम मोदी, अधिकारियों को दिया तेज कार्रवाई करने का निर्देश

नई दिल्ली ( 2 मई ): मोदी सरकार ने कालेधन पर बड़ी चोट करते हुए 8 नवंबर 2016 को पूरे देश में पुराने 500-1000 के नोटों पर बैन लगा दिया था। नोटबंदी के जरिये कालेधन पर करारी चोट करने के बाद सरकार अब बेनामी संपत्तिधारकों के खिलाफ बड़े स्तर पर कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। प्रधानमंत्री ने बेनामी संपत्ति रखने वालों के विरुद्ध कार्रवाई तेज करने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। पीएम मोदी ने आयकर विभाग को कर आधार व्यापक बनाने को भी कहा है।


प्रधानमंत्री ने सोमवार को राजस्व विभाग के ऑपरेशन क्लीन मनी की अब तक की प्रगति का जायजा लेने के दौरान यह बात की। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर एक जुलाई 2017 से प्रस्तावित वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की तैयारियों का जायजा भी लिया।


खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री ने बैठक के दौरान वित्त मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों से बेनामी संपत्तिधारकों के खिलाफ सख्त कदम उठाने और कार्रवाई तेज करने को कहा। प्रधानमंत्री ने कर अधिकारियों से यह भी कहा कि आयकर विभाग की किसी भी कार्रवाई से आम करदाताओं को कोई तकलीफ न हो।


उन्होंने आयकर अधिकारियों के विशेषाधिकार कम करने के लिए ई-असेसमेंट को बढ़ावा देने को भी कहा। सूत्रों के मुताबिक पीएम ने कहा कि असेसमेंट कंप्यूटर के माध्यम से होना चाहिए तथा नोटिस भी इलेक्ट्रॉनिक तरीके से भेजे जाने चाहिए।


सूत्रों के मुताबिक पीएम ने करदाताओं के आधार को भी व्यापक बनाने का निर्देश राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिया। फिलहाल पांच प्रतिशत भी लोग देश में टैक्स नहीं देते। ऐसे में करदाताओं की संख्या बढ़ाने की जरूरत है।