अमित शाह ने विपक्ष के महागठबंधन को बताया ढकोसला, बोले- यूपी में 73 नहीं 74 सीटें जीतेंगे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 जनवरी): रामलीला मैदान में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू हो गई है। दो दिन तक चलने वाली इस बैठख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पूरे देश से आए हजारों कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र देंगे। यहां सरकार की उपलब्धियों के बखान और विपक्षी दलों को कठघरे में खड़ा करने के साथ-साथ कार्यकर्ताओं का मनोबल भी बढ़ाया जाएगा। दो दिनों में राज्यों पर भी अलग-अलग चर्चा होगी। 

प्रदेश नेतृत्व को निर्धारित समय में कामकाज का पूरा ब्यौरा दिया जाएगा। ध्यान रहे कि कुछ ही दिन पहले शाह ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए 17 कमेटी भी बनाई है। राज्यों के प्रभारियों और सह प्रभारियों की नियुक्ति भी हो चुकी है। इस दो दिवसीय परिषद सभी को जीत के मंत्र के साथ चलने का निर्देश दिया जाएगा और 2014 से भी बड़ी जीत का संकल्प भी दोहराया जाएगा।

राष्ट्रीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए अमित शाह ने भाजपा सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा, '2019 का चुनाव भाजपा के लिए बहुत मायने रखता है। हमारी सरकार ने गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं दी हैं। यह चुनाव भारत के लिए लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण है। 2019 का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच का युद्ध है।' यूपी में 2014 जैसी सलफता दोहराने का दावा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस बार उनकी पार्टी यहां 74 सीटें जीतेगी। 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वह उत्तर प्रदेश में अपनी पार्टी के लोगों के साथ लगातार संपर्क में हैं। उन्होंने कहा, 'मैं यह निश्चित रूप से कह सकता हूं कि इस बार हमारी सीटों की संख्या बढ़कर 74 हो सकती है लेकिन यह 72 से कम नहीं होगी।' अमित शाह ने कहा, 'हमारी सरकार ने महंगाई को काबू करने का काम किया है। हमने देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाया है।'

अमित शाह के भाषण की बड़ी बातें-

अमित शाह: 2019 का चुनाव फिर से भाजपा की सरकार बनेगी। देश की जनता पीएम मोदी के साथ चट्टान की तरह खड़ी है। देश ही नहीं दुनिया में भी कोई ऐसा नेता नहीं है जो मोदी जी की लोकप्रियता को टक्कर दे सके।  

अमित शाह: उत्तर प्रदेश में बुआ-भतीजे का गठबंधन कोई गठबंधन नहीं है वह सिर्फ ढकोसला है। विधानसभा चुनाव में भी हमारे खिलाफ सपा और कांग्रेस ने गठबंधन किया था लेकिन जनता ने उनका क्या किया सब जनते हैं।

एक ही परिवार ने एक ही पार्टी ने देश में 55 साल तक शासन किया है। इस शासन में 50 करोड़ ऐसे लोग थे जिनके परिवार वाले अगर बीमार हो जाएं। तो उनके पास इलाज के लिए पैसा नहीं था। बड़ी बीमारी के कारण मरने के अलावा उनके पास कोई रास्ता नहीं था। लेकिन मोदी सरकार ने आयुष्मान भारत योजना देकर देश के गरीबों का भला किया है।

लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 73 से बढ़कर 74 सीटें भाजपा की होगी। एक दूसरे का मुंह न देखने वाले आज हार के डर से एक साथ आ गए हैं, वो जानते हैं कि अकेले नरेंद्र मोदी जी को हराना मुमकिन नहीं है : अमित शाह

2019 का चुनाव भारत के गरीब के लिए बहुत मायने रखता है। स्टार्टअप को लेकर निकले युवाओं के लिए ये चुनाव मायने रखता है, करोड़ों भारतीय जो दुनिया में भारत का गौरव देखने चाहते हैं उनके लिए ये चुनाव मायने रखता है : अमित शाह

2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है। दो विचारधाराएं आमने सामने खड़ी है। 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसीलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है : अमित शाह

अटल जी जनसंघ के समय से ही देश की राजनीति के ध्रुव तारे की तरह चमके थे, भाजपा के संस्थापक अध्यक्ष थे। देश के हर कौने में भाजपा को पहुंचाने के लिए अटल जी और आडवाणी जी की जोड़ी ने जो संघर्ष किया है, ऐसा संघर्ष शायद ही हुआ हो : अमित शाह

जिस भारत की कल्पना विवेकानंद जी ने की थी उस भारत को हम मोदी जी के नेतृत्व में बनाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। ये अधिवेशन भारतीय जनता पार्टी के देशभर में फैले कार्यकर्ताओं के लिए संकल्प करने का अधिवेशन है : अमित शाह

भाजपा ने गरीबों के कल्याण के लिए बहुत सारे काम किये हैं, उसके साथ-साथ हमारे देश की सुरक्षा भी महत्वपूर्ण है। 2014 से पहले देश के जवानों की हत्या कर दी जाती थी, आये दिन बॉर्डर से घुसपैठ होती थी, इस प्रकार की स्थिति में हमने देश संभाला था: अमित शाह

2014 में 6 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें थीं और 2019 में 16 राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं। 5 साल के अंदर भाजपा का गौरव तेज गति से बढ़ा है: अमित शाह