पीएम मोदी ने विपक्ष के एकजुट होने की कोशिश को बताया वोर्टस को धोखा देने की कोशिश

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 जनवरी): प्रधानमंत्री मोदी ने एकबार फिर विपक्ष के एकजुटता की कोशिश पर हमला किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये लोग मजबूर सरकार बनाने के लिए एकजुट हो रहे हैं और वोटरों को धोखा देने की कोशिश कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ये बातें बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन सत्र में अपने भाषण के दौरान कहा। उन्होंने अपने भाषण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी जमकर निशाना साधा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीजेपी देश में मजबूत सरकार चाहती है, जबकि विपक्ष मजबूर सरकार चाहता है। साथ ही उन्होंने दावा किया कि देश अगली सरकार भी एनडीए की ही बनेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, बीजेपी की सरकार का मूलमंत्र है सबका साथ-सबका विकास और एक भारत-श्रेष्ठ भारत। जब हम एक भारत-श्रेष्ठ भारत की बात करते हैं तो उनमें क्षेत्रीय अस्मिताओं और आकांक्षाओं के लिए पूरा स्थान है। कहा कि देश के इतिहास में पहली बार ऐसी सरकार है जिस पर भ्रष्टाचार के आरोप नहीं है, देश विकास के मंत्र के आधार पर आगे बढ़ रहा है, साथ ही उन्होंने देश के विकास, सुरक्षा, गरीब कल्याण, किसान हित के लिये आने वाले चुनाव में देश में ‘मजबूत सरकार’ चुनने की वकालत की।

प्रधानमंत्री ने कहा किपहले दाल की कीमतों को लेकर कितना हल्ला मचाया जाता था। अब कितने दिन हो गए कि टीवी पर दाल की कीमतों पर ब्रेकिंग न्यूज नहीं आई। यह संभव हुआ क्योंकि हमारी सरकार ने नई नीतियां बनाई हैं । साथ ही उन्होंने कहा कि जब हम किसानों की समस्या के समाधान की बात करते हैं तो पहले की सच्चाइयों को स्वीकार करना जरूरी है। पहले जिनके पास किसानों की समस्याओं का हल निकालने का जिम्मा था, उन्होंने शॉर्टकट निकाले, उन्होंने किसानों को सिर्फ मतदाता बना रखा। हम अन्नदाता को ऊर्जादाता भी बनाना चाहते हैं। लगे हाथों उन्होंने ने कहा कि किसानों के लिए हमने कोशिशों में कोई कमी नहीं छोड़ी है और ये आगे भी जारी रहेगी। साल 2022 तक किसान अपनी आय दोगुनी करने के साधन जुटा सके इसके लिए हम दिन रात जुटे हुए हैं।