पीएम मोदी ने राजनीतिक दलों के चंदे में पारदर्शिता पर दिया जोर: रविशंकर प्रसाद

श्रीनगर ( 7 जनवरी ): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में जीत पक्की करने का आह्वान किया। पीएम मोदी ने बैठक में पार्टी नेताओं से कहा कि चुनाव में अपने रिश्तेदारों, भाई, भतीजों, बेटे, बेटियों को टिकट देने के लिए दवाब न बनाएं। उन्होंने कहा, 'संगठन को उचित लगेगा तो टिकेट दिया जाएगा। सभी को चुनाव में मिल कर काम करना है और सभी पांच राज्यों में जीत पक्की करनी है।'

केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कार्यकारिणी में पीएम मोदी के भाषण के मुख्य बिंदुओं की जानकारी दी। उन्होंने संवादादाताओं को बताया, 'पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा ऐसी पार्टी है, जिसे अपने कार्यकर्ताओं का सपोर्ट है। पार्टी में जमीनी सच्चाई को पहचानने वाले लोग हैं।' प्रसाद के अनुसार, पीएम मोदी ने नोटबंदी के हुए लाभ का जिक्र करते हुए नगदी का विस्तार ही भ्रष्टाचार की जड़ है। बेनामी संपत्ति को सबसे ज्यादा मजबूती नकदी से ही मिलती है।

पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि, गरीबों ने दिल से माना कि नोटबंदी का फैसला भ्रष्टाचार की बुराई को खत्म करने वाला साबित होगा। देश की जनता ने कुछ दिनों की कठिनाई को स्वीकार करते हुए इसका सामना किया।

बकौल प्रसाद पीएम मोदी ने कहा कि इन दो महीनों में भारत की समाजिक शक्ति देखने को मिली। गरीब और गरीबी हमारे लिए सिर्फ चुनाव जीतने का साधन नहीं, ये हमारे लिए सेवा का अवसर है। गरीब की सेवा प्रभु की सेवा की तरह है।

पीएम मोदी ने कहा, 'मैं गरीबी में जन्मा और गरीबी को जिया हूं। कुछ लोग सिर्फ स्टाइल की चिंता करते हैं, लेकिन हमारी सरकार गरीबों के जीवनस्तर की चिंता करती है।' पीएम मोदी ने कहा कि गरीबों की ताकत को हमारी सरकार बढ़ाएगी। गरीबों के लिए जो काम हमने किए, उसे आप बूथ स्तर तक पहुंचाएंगे।

पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं से कहा कि चुनाव में भाजपा के पक्ष में स्थिति अच्छी है। कार्यकर्ता बूथ पर प्रभावी काम करें। आलोचना का स्वागत करें, आरोपों से घबराएं नहीं। हमारे अंदर की सच्चाई और संकल्प हमें अच्छाई की दिशआ में आगे बढ़ाती रहेगी।