BREAKING NEWS: मोदी सरकार सीज करेगी ऐसे 2 लाख अकाउंट

नई दिल्ली (5 सितंबर): रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की सालाना रिपोर्ट में नोटबंदी के बाद से जमा हुई रकम को लेकर मोदी सरकार पर विपक्ष जमकर निशाना साध रहा है। सिर्फ 16 हजार करोड़ रुपये की ऐसे थे, जो बैंकों में जमा नहीं हुए। इसी बात को लेकर सरकार से यह सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर कालेधन के नाम पर की गई नोटबंदी का क्या हुआ।

ऐसे में सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि वित्त मंत्रालय की वित्तीय सेवा विभाग (department of financial services) ने शेल कंपनियों के बैंक खाते सीज करने के आदेश दे दिए हैं। कंपनी मामलों के मंत्रालय पहले ही इन कंपनियों को डीलिस्ट कर चुकी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही फर्जी कंपनियों के खिलाफ कदम उठाने की बात कह चुके है।

सूत्रों ने बताया कि करीब 2 लाख शेल कंपनियों के खिलाफ यह कदम उठाया जा रहा है, जिसमें बड़ी रकम सरकार को हाथ लगने वाली है।