प्लेबॉय मैगजीन संकट के दौर में, बिकने की तैयारी!

नई दिल्ली (25 मार्च) :  प्लेबॉय मैगजीन अस्तित्व बनाए रखने के संकट से गुज़र रही है। दरअसल आज के युग में ऑनलाइन पॉर्न आसानी से उपलब्ध होने की वजह से प्लेबॉय अपनी इमेज का मेकओवर करने पर विचार कर रही है। प्लेबॉय एंटरप्राइजेज ने बिक्री के लिए एक निवेश सलाहकार की सेवाएं लेना शुरू किया है। ये सलाहकार मेन्स लाइफस्टाइल की दशकों से प्रसिद्ध मैगजीन की कंपनी को बेचने की संभावनाएं तलाश करेगा।

कंपनी के प्रवक्ता के मुताबिक मोएलिस एंड कंपनी की निवेश सलाहकार के तौर पर सेवाएं ली जा रही हैं। ये कंपनी को बेचने या दूसरे संभावित विकल्पों पर सलाह देगा। फिलहाल प्लेबॉय पर रिजवी ट्रेवर्स मैनेजमेंट का नियंत्रण है। इसके पास दो तिहाई शेयर हैं। वहीं प्लेबॉय के संस्थापक ह्यू हैफनर के पास एक तिहाई शेयर हैं।

वॉल स्ट्रीट जनरल की रिपोर्ट के मुताबिक बिक्री से करीब 50 डॉलर मिल सकते हैं। इसी साल प्रसिद्ध प्लेबॉय मैंशन को भी बिक्री के लिए उपलब्ध घोषित किया गया था। इससे 20 करोड़ डॉलर मिल सकते हैं। इस मैगजीन का सर्कुलेशन 1972 में 70 लाख था। जो अब घटकर 8 लाख रह गया है।