अमेरिका-ईरान ने एक दूसरे के कैदी छोड़े, ऐतिहासिक समझौते के बाद उठा कदम

नई दिल्ली (17 जनवरी): ईरान और अमेरिका के बीच हुए ऐतिहासिक समझौते के बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे देशों के कैदियों को रिहा कर दिया है। ईरान ने अपने खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों को हटाए जाने की संभावना के मद्देनजर अमेरिका के 5 कैदियों को रिहा किया है। इनमें एक वाशिंगटन पोस्ट का पत्रकार भी शामिल है। दूसरी तरफ अमेरिका ने भी अपने यहां जेलों में बंद ईरान के सात नागरिकों को छोड़ दिया है। यह कदम दोनों पक्षों के बीच हुए ऐतिहासिक न्यूक्लियर प्रोग्राम समझौते के बाद उठाया गया है। 

रिपोर्ट के मुताबिक, वाशिंगटन पोस्ट के तेहरान संवाददाता जैसन रेजैन, पादरी सईद अबेदिनी, पूर्व अमेरिकी नाविक आमिर हेकमती और नुसरतुल्लाह खोसरवी को रिहा किया गया है। सरकारी समाचार एजेंसी आइआरएनए (इरना) ने भी बताया है कि अमेरिका द्वारा रिहा किए गए ईरानी नागरिकों में नादिर मोदानलु, बहाराम मेकनिक, खुसरो अफघई, अर्श घाहरामन, तोरुज फरीदी, निमा गोलेस्तेनेह और अली साबउनीची शामिल हैं।

गौरतलब है, ईरान ने कहा था कि राष्ट्र हित में देश की शीर्ष सुरक्षा समिति के दिए आदेश पर अदला-बदली के क्रम में दोनों देश एक दूसरे के कैदियों को छोड़ रहे हैं। यह सब ऐसे समय में हो रहा है, जब माना जा रहा है कि ईरान व अमेरिका के नेतृत्व में विश्व शक्तियां पिछले साल जुलाई में हुए परमाणु समझौते को लागू करने पर सहमत हो गई हैं। ऐसा होने के बाद इस इस्लामिक गणतंत्र पर से अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे।