BREAKING: पीयूष गोयल होंगे नए रेल मंत्री

नई दिल्ली(3 सितंबर): मोदी कैबिनेट का रविवार को विस्तार हुआ है। इसी बीच सबसे बड़ी खबर ये है कि सुरेश प्रभु की जगह पीयूष गोयल को रेल मंत्री बनाया गया है। 

- गोयल फिलहाल ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। उन्होंने कोल इंडिया की स्थिति को बेहतर बनाने की दिशा में जरूरी कदम उठाए। उनके कार्यकाल में बिजली उत्पादन क्षमता में सुधार हुआ है, खासतौर पर रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में। अनुमान है कि भारत का सौर ऊर्जा उत्पादन 18GW तक बढ़ सकता है। यह 2014 में गोयल के पद संभालने के समय से छह गुना ज्यादा है।

- वहीं, ऐसे गांव जहां अब तक बिजली नहीं पहुंची है उनकी संख्या साल 2014 में 18000 से घटकर 4000 हो गई है। 52 वर्षीय गोयल मोदी कैबिनेट के युवा मंत्रियों में से एक हैं। वह 2014 में पहली बार मंत्री बने और महज तीन सालों में वह फुल कैबिनेट रैंक हासिल कर लिए। यह एक राजनेता के तौर पर उनकी एक बड़ी उपलब्धि है। साल 2014 के चुनाव के दौरान गोयल को प्रचार, विज्ञापन और सोशल मीडिया के जरिए युवाओं को साधने की जिम्मेदारी दी गई थी। उन्होंने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई और पार्टी आलाकमान की नजर उन पर पड़ी। वह एक सफल चार्टर्ड अकाउंटेंट और इंवेस्टमेंट बैंकर भी रह चुके हैं।