वाराणसी हादसा: सस्पेंड प्रोजेक्ट मैनेजर ने कहा- काम को जल्दी निपटाने का था दबाव

नई दिल्ली (16 मई): वाराणसी के कैंट में मंगलवार शाम निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से 18 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई जबकि 30 से ज्यादा लोग घायल हैं, जिनमें 14 की हालत गंभीर बनी हुई है। हादसे के बाद वाराणसी पहुंचे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने चार लोगों को निलंबित कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है, जो 15 दिन के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगी।

प्रथम दृष्टया मामले में सेतु निगम के चीफ़ प्रोजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर राजेन्द्र सिंह और के आर सूडान को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही एक अन्य कर्मचारी लालचंद को भी सस्पेंड किया गया है।

वहीं सस्पेंड किए गए प्रोजेक्ट मैनेजर  के आर सूडान ने कहा कि बनारस के सभी प्रोजेक्ट्स को जल्दी निपटाने का दबाव है। उन्होंने कहा कि हम सभी काफी दबाव में काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मृत लोगों के परिजनों को पांच लाख जबकि घायलों को दो-दो लाख रुपये की मदद देने का निर्देश दिया है। वहीं निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने के कारणों की जांच के लिए मुख्यमंत्री ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। समिति के अध्यक्ष कृषि उत्पादन आयुक्त आरपी सिंह होंगे। समिति में जल निगम और सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने समिति से 48 घंटे में जांच रिपोर्ट मांगी है।