चमकी बुखार से 140 बच्चों की मौत, 500 ICU और पेशेवर डॉक्टरों के लिए SC में PIL दाखिल

chamki bukhar

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून): बिहार में चमकी बुखार से अब तक 140 बच्चों की मौत के बाद सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। इस जनहित याचिका में सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई गई है कि चमकी बुखार से निपटने के लिए अदालत बिहार और केंद्र सरकार को 500 आईसीयू की व्यवस्था करने का निर्देश दे। साथ ही चमकी बुखार से निपटने के लिए जरूरी पेशेवर डॉक्टरों की संख्या में भी इजाफा करने की मांग की गई है।

इस याचिका में यह भी मांग की गई है कि सबसे पहले मुजफ्फरपुर में 100 मोबाइल ICU बनाए जाए। इसके अलावा चमकी बुखार से प्रभावितों का जायजा लेने के लिए एक मेडिकल बोर्ड को मुजफ्फरपुर भेजने की मांग की गई है। चमकी बुखार के कहर को देखते हुए अदालत से अपील की गई है कि तुरंत इस मामले में दखल दे। इस याचिका को वकील मनोहर प्रताप और संप्रीत सिंह ने दाखिल किया है।याचिका में दावा किया है गया है कि बिहार राज्य इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए जो कदम उठाये जाने चाहिए थे उसे लागू करने में फेल रहा है। इसलिए अब कोर्ट का दखल जरूरी हो गया है। याचिका में कहा गया है कि अदालत मुजफ्फरपुर में काम कर रहे प्राइवेज डॉक्टरों और अस्पतालों को चमकी बुखार से पीड़ित लोगों का मुफ्त इलाज करने का आदेश दिया जाए। 

इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को इनसेफेलाइटिस से त्रस्त मुजफ्फरपुर का दौरा किया, जहां सैकड़ों लोगों ने उनके खिलाफ प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन सरकारी श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) के बाहर हुआ, जहां नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पहुंचे थे। यहां पर खराब इलाज और सुविधाओं की कमी से नाराज प्रदर्शनकारी 'मुख्यमंत्री वापस जाओ' जैसे नारे लगा रहे थे। 

इस मामले में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेताओं के गायब रहने पर कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस की राष्‍ट्रीय मीडिया कोऑर्डिनेटर राधिका खेरा ने LJP नेता चिराग पासवान के गोवा में पार्टी करने की तस्‍वीरों के साथ उन पर निशाना साधा। राधिका खेरा ने ट्वीट किया, 'यह हैं मौसम वैज्ञानिक रामविलास पासवान के चिराग। बिहार के जमुई से सांसद चिराग पासवान। हर घंटे मासूम मर रहे हैं और ममता बिलख रही है। पूरा सूबा सिसक रहा है, सैंकड़ों घरों के चिराग बुझ गए। LJP को एक और मंत्रालय तो बनता है।'