बिहार: शराबबंदी के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में जनहित याचिका

नई दिल्ली (6 अप्रैल): पटना हाईकोर्ट में बिहार सरकार के शराब की बिक्री और सेवन पर पाबंदी के फैसले के खिलाफ बुधवार को एक जनहित याचिका दायर की गई।

अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, सेवानिवृत्त एएन सिंह ने पटना हाईकोर्ट में यह याचिका दायर की है। नीतीश कुमार के बिहार में शराब पर पूरी तरह से बैन लगाने के एक दिन के बाद यह याचिका दायर की गई है। 

याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार का यह फैसला नागरिकों के अपनी मनपसंद चीजें खाने-पीने के मानवाधिकार का उल्लंघन करता है। याचिका में बिहार के संशोधित एक्साइज़ एक्ट के प्रावधानों को 'कठोर, मनमाना और दुर्भावनापूर्ण' बताया गया है। यह एक्ट राज्य विधानसभा में 31 मार्च को पास किया गया। याचिका में कहा गया कि यह संविधान के अनुच्छेद 14, 19, 21 और 22 का उल्लंघन करता है।

अभी इस याचिका की सुनवाई के लिए तारीख तय नहीं हुई है। यह याचिका मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राज्य कैबिनेट की तरफ से शराब की बिक्री और सेवन पर पूरी तरह से प्रतिबंध के फैसले के एक दिन बाद दायर की गई है। जिसमें तत्काल प्रभाव से इंडियन मेड फॉरेन लिकर (आईएमएफएल) भी शामिल है।