WhatsApp बैन के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका

नई दिल्ली (3 मई): गुड़गांव के आरटीआई कार्यकर्ता सुधीर यादव ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर वॉट्सएप, टेलीग्राम और दूसरे मैसेंजर सर्विसेस को बैन करने की मांग की है।

यह विशेष याचिका इसलिए दायर की गई है क्योंकि वॉट्सएप के पास एंड टू एंड इन्क्रिप्शन है। जो भारत सरकार को इन मैसेजेस को एक्सेस करने का कोई साधन नहीं देता। इसलिए उन्होंने इसे देश की सुरक्षा के लिए एक चिंता बताया है।

इस इन्क्रिप्शन के कारण केवल मैसेज भेजने और रिसीव करने वाले व्यक्ति ही इन्हें देख, पढ़ या सुन सकते हैं। इसके बीच में वॉट्सएप तक इन्हें नहीं देख सकता। इन मैसेजेस को एक लॉक के जरिए सुरक्षित किया गया है। रिसीवर और सेंडर के पास ही स्पेशल कीज़ होती हैं, जो इन्हें अनलॉक कर पढ़ सकती हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, सुधीर ने पहले वॉट्सएप के इन्क्रिप्शन रूल्स की जानकारी के लिए आरटीआई कानून के तहत सूचनाएं मांगी थीं। जब उन्हें कोई सूचना नहीं मिली, उन्होंने वॉट्सएप को बैन करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया।