इस राष्ट्रपति ने अपने ही लोगों को मारने के लिए रखे हैं कांट्रैक्ट किलर्स, करवा चुका है 1 लाख हत्याएं

नई दिल्ली (7 सितंबर): ये है फिलीपीन्स का राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते। इसकी उम्र 71 साल है। रॉड्रिगो दुर्तिते ने कसम खाई है कि वो फिलीपींस से नशे को पूरी तरह ख़त्म करके ही दम लेगा। उसे राष्ट्रपति बने अभी सिर्फ तीसरा महीना ही चल रहा है, लेकिन अब तक ढाई हज़ार लोगों को मौत के घाट उतारा जा चुका है।

फिलीपींस के राष्ट्रपति ने हिट लिस्ट तैयार की है। उसने अपने ही मुल्क के करीब एक लाख लोगों को मौत के घाट उतारने का प्लान बना लिया है। दो महीने पहले उसने राष्ट्रपति की गद्दी संभाली। तब से अब तक करीब ढाई हजार लोगों का कत्ल किया जा चुका है। उन्हें ना अदालत ले जाया गया, ना कोई सुनवाई हुई सीधे गोली मार दी गई। रोड्रिगो ने अपने मुल्क से ड्रग्स का नामोनिशान मिटाने के लिए कत्लेआम का ऐलान किया है। अपराधियों को बिना किसी सुनवाई के मौत के घाट उतार देने का वादा करने वाले इस शख्स का नाम रोड्रिगो दुतेर्ते है।

कत्ल किए गए ढाई हज़ार लोगों में 700 से ज्यादा पुलिस ऑपरेशन के दौरान मारे गए। दुतेर्ते के राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से फिलीपींस के ड्रग तस्करों, ड्रग्स के आदी लोगों में और उन पुलिसवालों में जो इनका साथ देते हैं खौफ कायम है। ड्रग रैकेट से जुड़े लोग हर पल दहशत में हैं, कि ना जाने कब उनका नंबर आ जाए। क्योंकि एक बार पकड़े जाने पर ना सुनवाई हो रही है, ना माफी की गुंजाइश है। आरोपियों को सीधे गोली मारी जा रही है। दुतेर्ते ने राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ते वक्त ही वादा किया था कि वो बिना किसी सुनवाई के ड्रग तस्करों को मार डालने के पक्ष में हैं और इन्हीं वादों पर फिलीपींस की जनता ने उन्हें राष्ट्रपति चुन भी लिया।

दुनिया का ये इकलौता राष्ट्रपति है जिसने नशे को खत्म करने के लिए कॉन्ट्रैक्ट किलर्स रखे हैं। ये कॉन्ट्रैक्ट किलर्स नशेबाज़ों को पकड़ने के लिए ऑपरेशन को अंजाम देते हैं और सरकार नशे के सौदागरों को मारने के लिए पैसा और इनाम भी देती है। कई महिलाएं भी फिलीपींस के राष्ट्रपति को मारने के लिए कॉन्ट्रैक्ट किलिंग में कूद पड़ी हैं और बच्चे होने के बावजूद भी हत्याएं कर रही हैं।

ड्रग्स के खिलाफ रॉड्रिगो के इस रूख को देखकर दुनिया के कई देशों में उन्हें हत्यारे राष्ट्रपति का तमगा दिया जा रहा है। टाइम मैगजीन ने दुतेर्ते को द पनिशर का नाम दिया। यानी वो शख्स जो सिर्फ सजा देने में यकीन रखता है। उसके भाषणों पर दुनियाभर के तमाम संगठन अपनी चिंता जता चुके हैं। फिलीपींस में ड्रग्स के आरोपियों के साथ हो रहे व्यवहार पर टीवी शोज में बहस चल रही है, लेकिन हकीकत ये है कि फिलीपींस में दुतेर्ते को जनता का भारी समर्थन मिल रहा है।

सवाल उठाए जा रहे हैं कि क्या सिर्फ शक के आधार पर किसी को सजा देना सही है। भले ही दुतरते को बड़ी तादाद में जनता का समर्थन मिल रहा है, लेकिन जिन लोगों के परिजन मारे गए हैं वो अपने सगे-संबंधियों को बेकसूर मान रहे हैं।