BMC ने PhD स्वीपर को नौकरी से निकाला

मुंबई(6 अगस्त): इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) से पीएचडी कर रहे सुनील यादव को बृहन्मुंबई नगर निगम ने नौकरी से निकाल दिया है। वह बृहन्मुंबई नगर निगम में स्वीपर का काम कर रहे थे। 

- दरअसल सुनिल यादव अपना ट्रांसफर चाह रहे थे। उन्होंने बताया कि उन्हें हर रोज अपने घर से ग्रांट रोड स्थित ऑफिस आने के लिए 3 ट्रेन बदलनी पड़ती थी। 

- उन्होंने कहा, 'मैं इस वजह से अपना तबादला घर के नजदीक चेंबूर में कराना चाह रहा था, जिससे मैं बचा हुआ वक्त अपनी पढ़ाई को दे सकूं और इसी लिए मैं लगातार बीएमसी से निवेदन कर रहा था कि मेरा ट्रांसफर घर के नजदीक वाले BMC चैंबर में कर दिया जाए। उन्होंने अपने साथ जातिगत भेदभाव का आरोप भी लगाया है।

- बता दें कि BMC में स्वीपर के पद पर काम कर रहे सुनील यादव ने (TISS) टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज से B.Com,BA (पत्रकारिता), फिर MA (ग्लोबलाइजेशन एंड लेबर) , उसके बाद M.PHIL भी किया और अब Phd भी कर रहे हैं। 

- सुनील यादव एक गरीब परिवार से है उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है इसके बावजूद सुनील यादव ने अपनी पढ़ाई जारी रखी है।