पीएचडी छात्रों ने 8वीं पास नौकरी के लिए किया आवेदन

कलकत्ता (11 जुलाई): देश मे बेरोजगार की समस्या को लेकर लोग कितने परेशान हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है। जब पोस्ट मार्टम के पद के लिए मंगाए गए आवेदन मे ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, पीएचडी और यहां तक की एमफिल डिग्री वाले छात्रों ने आवेदन किया। मामला मालदा मेडिकल कॉलेज का है। 

जहां पर पोस्टमार्टम के पद के लिए आवेदन मंगाए गए थे और इस पद के लिए 8 वीं पास की योग्यता मांगी गई थी। लेकिन इस छोटे से पद के लिए पीएचडी और एमफिल वाले तकरीबन 300 छात्रों ने आवेदन किए। मालदा मेडिकल कॉलेज में जब आवेदनकर्ताओं की पेटी खोली गई तो अधिकारियों को लगा कि उन्होंने गलती से गलत पेटी खोल ली है। उन्हें लगा कि ये आवेदन किसी दूसरे पद के लिए आए होंगे। लेकिन जांच के बाद पता चला कि सही पेटी खोली गई है तो जांचकर्ताओं के होश उड़ गए। 

मालदा मेडिकल कॉलेज के वाइस प्रेंसीपल अमित धवन ने मीडिया से बात करते हूए कहा कि ये देश का दुर्भाग्य है जो इतने छोटे पत के लिए ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और पीएचडी जैसे छात्रों ने आवेदन किए है। उन्होंने कहा कि ये सब देश में बेरोजगारी की वजह से हो रहा है। अमित ने कहा कि सरकार को इस समस्या का समाधान जल्द से जल्द निकालना चाहिए।