इस देश में 6 हजार गुना बढ़ाए गए पेट्रोल के दाम

काराकास (20 फरवरी): भारत में पेट्रोल के दाम कच्‍चे तेल के दामों पर कम और ज्‍यादा होते रहते हैं, लेकिन वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने गंभीर आर्थिक संकट से उबरने के लिए तेल के दामों में 6 हजार गुना तक की वृद्धि करने का बड़ा ऐलान कर दिया।

राष्ट्रपति ने देश की मुद्रा बोलिवर्स का अवमूल्यन करने का फैसला लिया है। इस घोषणा के बाद वेनेजुएला में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 0.1 बोलिवर्स (तकरीबन 70 पैसे) से बढ़कर 6 बोलिवर्स (लगभग 41 रुपए) यानी 1.5 अमेरिकी सेंट से बढ़कर 95 सेंट हो गई है। हालांकि कम क्वालिटी वाला पेट्रोल अभी भी लोगों को 0.10 बोलिवस (लगभग सात रूपए) प्रति लीटर की दर से मिल सकेगा। इस वृद्धि पर निकोलस मादुरो ने कहा है कि यह बहुत जरूरी कदम था। इसके लिए वे पूरी तौर पर खुद को

जिम्मेदार मानते हैं। वेनेजुएला दुनिया के सबसे अधिक तेल उत्पादन करने वाले देशों में से एक है लेकिन पिछले कुछ सालों में यहां तेल के उत्पादन में कमी आई है। साथ ही 2014 के बाद से विश्व बाजार में तेल के दामों में कमी के चलते वेनेजुएला को नुकसान भी उठाना पड़ा है। कहा जा रहा है कि पेट्रोल के दाम में हुई इस बढ़ोतरी के बाद सरकार 80 करोड़ डॉलर की बचत कर पाएगी।

हो सकता है तनाव:

वेनेजुएला की आर्थिक स्थिति काफी खराब है, यहां के नागरिकों को कुकिंग ऑइल और टॉइलट पेपर जैसी चीजों तक की कमी झेलनी पड़ रही है। दैनिक आवश्यकताओं की चीजों का भी आभाव पैदा हो गया है। ऐ‍ेसे में इस वृद्धि से गुस्साए लोग भड़क सकते हैं और प्रदर्शन की स्थिति पैदा हो सकती है। इससे पहले वेनेजुएला में 1989 में तेल के दामों में वृद्धि हुई थी। तब भी तेल के दामों में कमी के चलते देश में आर्थिक संकट पैदा हो गया था और हिंसा भड़क गई थी, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे। पूर्व राष्ट्रपति ह्यूगो शावेज ने अपने कार्यकाल के दौरान 14 सालों तक तेल के दामों को स्थिर कर दिया था। वेनेजुएला की कुल आय का 95 पर्सेंट हिस्सा तेल के निर्यात से आता है।