मध्य प्रदेश में पेट्रोल 1 रूपए महंगा

 

नई दिल्ली (17 अगस्त): सरकारी तेल कंपनियों द्वारा पेट्रोल एक रुपए सस्ता किए जाने के 48 घंटे बाद ही मध्य प्रदेश सरकार ने इसे आम लोगों से छीनने की तैयारी कर ली है। प्रदेश में पेट्रोल पर अब एक रुपए का सरचार्ज (अतिरिक्त-कर) बढ़ा दिया गया है। यह बुधवार रात 12 बजे यानी 18 अगस्त से लागू होगा। इससे पेट्रोल फिर एक रुपए महंगा हो जाएगा।

आपको बता दें कि पेट्रोल-डीजल पर पिछले एक साल में कई तरह के टैक्स लगाकर मप्र सरकार करीब 800 करोड़ रुपए की कमाई कर चुकी है। मप्र में जहां पेट्रो राजस्व बढ़ रहा है, वहीं गुजरात, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में यह राजस्व घटा है, क्योंकि यहां सरकार ने इन पेट्रो उत्पादों पर बहुत कम टैक्स लगाए हुए हैं। फिलहाल देश के कई बड़े शहरों से ज्यादा महंगा पेट्रोल-डीजल भोपाल में बिक रहा है

अब तक इतनी हो चुकी कमाईमप्र सरकार ने नए टैक्स लगाने के लिए विधानसभा से अधिकार ले रखे हैं। उसने डेढ़ साल में इस अधिकार का प्रयोग कर पेट्रोल-डीजल पर कईबार टैक्स लगाए। पेट्रोल पर 4 फीसदी वैट बढ़ाने के बाद 3 रुपए की एडिशनल ड्यूटी लगाई। डीजल में 4 फीसदी वैट और डेढ़ रुपए की एडिशनल ड्यूटी लगाई गई। नतीजतन सरकार को मिलने वाला पेट्रो राजस्व 6,832 से बढ़कर 7,631 करोड़ रुपए हो गया।

राजस्व घाटे का हवालासरकार ने अतिरिक्त कर में बढ़ोत्तरी के पीछे घाटे का हवाला दिया है। वाणिज्य कर विभाग का तर्क है कि हाल ही में तेल कंपनियां चार बार दाम घटा चुकी है। इससे राजस्व के तय लक्ष्य में कमी आ जाती, इसलिए अतिरिक्त कर बढ़ाया गया।