Blog single photo

पेट्रोल-डीजल के बहाने कांग्रेस का केंद्र पर हमला

कर्नाटक चुनाव में वोटिंग के खत्म होते ही पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी पर पिछले 19 दिनों से लगी रोक को हटा ली गई है। पेट्रोल की कीमत में 17 पैसे और डीजल के मूल्य में 21 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हो गई।

नई दिल्ली (14 मई): कर्नाटक चुनाव में वोटिंग के खत्म होते ही पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी पर पिछले 19 दिनों से लगी रोक को हटा ली गई है। पेट्रोल की कीमत में 17 पैसे और डीजल के मूल्य में 21 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हो गई। इस बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर सीधा हमला करते हुए जनता के साथ छल करने का आरोप लगया है। साथ ही कांग्रेस ने सवाल किया है कि मोदी सरकार इस तरह से आम लोगों की जेब में कबतक सेंध लगाती रहेगी।

पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोतरी के बहाने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी केंद्र सरकार पर हमला किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि कर्नाटक में वोटिंग खत्म होते ही देश में 4 साल के सबसे ऊंचे स्तर पर तेल के दाम।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि कर्नाटक में वोट हासिल करने के लिए पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोतरी नहीं की गई। इसके बाद फिर राज्य और देश की जनता के साथ छल हुआ। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के रूप में लोगों को पहली चपत लगी। आम लोगों की जेब पर और कितनी चपत लगेगी। पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने भी इसको लेकर सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि फिर से वही हुआ। पेट्रोल एवं डीजल पर और कर बढ़ा, आम उपभोक्ता पर बोझ बढ़ा। कर्नाटक चुनाव तो सिर्फ इंटरवल था।

NEXT STORY
Top